कथित तौर पर मांगे पूरी ने होने से दिल्ली वापस लौटे तमिलनाडु के किसानों ने जंतर-मंतर पर फिर से प्रदर्शन किया. इस बार उन्होंने हाथों में नरमुंड लेकर और अपने सिरों को चप्पलों से पीट कर प्रदर्शन किया.

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे नेशनल-साउथ इंडियन रिवर्स लिंकिंग किसान एसोसिएशन के अध्यक्ष पी अय्याकन्नु ने न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा, भारत में किसान होना भिखारी होने से भी बुरा है. इससे एक दिन पहले ये किसान प्रधानमंत्री के आवास के बाहर भी प्रदर्शन कर चुके है.

और पढ़े -   उर्दू पूरे हिंदुस्तान की जुबान, राजनीति ने सिर्फ मुसलमानों की बना दिया: हामिद अंसारी

तमिलनाडु में इस साल बरसात में 60 फीसदी की कमी आई है. जिसके कारण राज्य को 140 साल में अब तक के सबसे बड़े सूखे का सामना करना पढ़ रहा है. जिसके चलते किसानों का आत्महत्याओं का सिलसिला जारी है.

इसी बीच तमिलनाडु विधायकों की सेलरी दुगनी करने से भी किसान नाराज है. किसानों ने अपने विधायकों के सैलरी में वृद्धि किए जाने पर नाखुशी का इजहारया है.

और पढ़े -   मोदी ने जूता पहनकर झंडा फहराया तो शांति, मुस्लिम प्रिंसिपल पर किया गया हमला

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE