savji-dholakia-620x400

सूरत | हर साल दिवाली पर कंपनिया अपने कर्मचारियों को बोनस के रूप में कुछ न कुछ उपहार जरुर देती है. सरकारी संस्थाओ में यह कैश के रूप में दिया जाता है वही निजी कंपनियों में कर्मचारियों को गिफ्ट व् मिठाईयां बांटी जाती है. लेकिन अगर आपको दिवाली बोनस के रूप में कार और घर मिल जाये तो फिर क्या कहना. फिर तो दिवाली में चार चाँद लगने लाजिमी है.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने बनाया पुरे देश के लिए गौरक्षा कानून, गायों की खरीद-फरोख्त पर लगा प्रतिबंध

कुछ ऐसा ही हुआ सूरत की हरी कृष्णा एक्सपोर्ट कंपनी में काम करने वाले कर्मचारियों के साथ. इन लोगो की , इस बार की दिवाली बेहद खास होने वाली है क्योकि इस कंपनी के मालिक ने अपने कर्मचारियों को दिवाली बोनस के रूप में कार और मकान देने का फैसला किया है. हालांकि कंपनी में काम करने वाले सभी कर्मचारियो को बोनस के रूप में कार और मकानन नही मिल रहा है.

और पढ़े -   दलित नेता मानकर ने भगवद गीता को बताया घटिया, कहा - कचरे के डब्बे में फेंक देना चाहिए

हरिकृष्ण एक्सपोर्टर में करीब 55 सौ कर्मचारी काम करते है. कंपनी ने उन 1716 कर्मचारियों को बोनस देने का फैसला किया है जिनका पिछले एक साल का परफॉरमेंस बेहद ख़ास रहा. इनमे से 1260 कर्मचारियों को कार दी जायेगी वही 400 लोगो को बोनस के रूप में घर दिया जाएगा. बाकी बचे कर्मचारियों को ज्वेलरी दी जायेगी. इस कंपनी का सालाना टर्न ओवर 6000 करोड़ रूपए है.

हरीकृष्णा एक्सपोर्टर के सीईओ सवजी भाई ढोलकिया ने पत्रकारों को बताया की हमने इस बोनस के रूप में 51 करोड़ रूपए खर्च किये है. अगले साल हमारी कंपनी के 25 साल पुरे हो जायेंगे. इसलिए हमारा सपना है की 25 साल पूरा होने से पहले हमारे सभी कर्मचारियों के पास अपना घर और कार हो. सवजी भाई ढोलकिया ने पिछले साल भी बोनस के तौर पर कार और घर अपने कर्मचारियों को दिए थे.

और पढ़े -   जनता दरबार में योगी से मिलने आये सिख को कृपाण और पगड़ी उतारने के लिए कहा गया

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE