नई दिल्ली | शीर्षक पढ़ कर आप भी सोच रहे होंगे की आखिर यह किस तरह की खबर है? यह शीर्षक किसी भी लेखक के मानसिक दिवालियापन को दर्शाने के लिए काफी है. वैसे भी आजकल इस तरह के लेखको की भरमार है जो सोचते है की विवादित लेख से ही प्रसिद्धि मिलती है. अभी हाल ही में एक न्यूज़ पोर्टल के लिए लिखते हुए मशहूर इतिहासकार पार्थो चटर्जी ने सेना अध्यक्ष बिपिन रावत की तुलना जनरल डायर से कर देश में भूचाल ला दिया.

और पढ़े -   दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगाने के ममता सरकार के आदेश पर हाई कोर्ट सख्त, पुछा सत्ता है तो मनमाना आदेश पारित करेंगे

लेकिन यह एक लेखक के निजी विचार हो सकते है, इसलिए इन विचारो को किसी पर थोपा नही जा सकता. किसी का मन है तो पढ़े नही तो जाने दे. लेकिन स्कूल, कॉलेज में किसी कोर्स के लिए पढ़ी जाने वाली किताबो में अगर विवादित लेख लिखे जाए तो छात्रों को मजबूरन इन्हें पढना पढता है. दुसरे लब्जो के कहे तो इस तरह के विचार , छात्रों के ऊपर थोपे जाते है. कुछ ऐसा ही मामला दिल्ली यूनिवर्सिटी में सामने आया है.

और पढ़े -   देश में हिंदू आएं तो शरणार्थी, मुस्लिम आएं तो आतंकवादी: स्वामी अग्निवेश

यहाँ की एक किताब में ईमेल को समझाने के लिए बेहद ही विवादित लाइन का इस्तेमाल किया गया है. बिज़नस कम्युनिकेशन की एक किताब में ईमेल को समझाने के लिए लेखक ने लिखा की ईमेल स्कर्ट की तरह छोटा होना चाहिए जिससे की यह दिलचस्प रहे. हालाँकि छात्र इस किताब को दस साल से पढ़ रहे है लेकिन कमला नेहरु कॉलेज की एक छात्रा की नजर जब इस लाइन पर गयी तो इसने इसे सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर बोले मौलाना, हम 72 भी लाखो पर भारी, कोई माँ का जना नही जो मुसलमानों को बंगाल से निकाल दे

इस लाइन में लिखा है,’ई-मेल मेसेज स्कर्ट की तरह होने चाहिए- इतने शॉर्ट कि दिलचस्प रहें और इतने लंबे कि सभी खास बातों को समा सकें.’ किताब को SRCC कॉलेज के कॉमर्स डिपार्टमेंट के हेड रह चुके सीबी गुप्ता ने लिखा है. जब इस लाइन पर विवाद शुरू हुआ तो उन्होंने अपनी गलती मानते हुए कहा की मुझे यह अंदाजा नही था की इससे किसी की भावनाए आहत होंगी. मैंने पब्लिशर को किताब से यह लाइन हटाने के लिए कह दिया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE