mj akb

पकिस्तान के प्रधामंत्री नवाज शरीफ द्वारा उडी हमलें में पाकिस्तान का हाथ होने से इंकार करने पर भारत ने कहा है कि शरीफके कुतर्क अब काम नहीं आने वाले हैं.

विदेश राज्य मंत्री एम. जे. अकबर ने कहा, ‘पाकिस्तान के पास 1-2 साइंटिस्ट तो होंगे ही. अगर वे चाहें तो आतंकियों के डीएनए सैंपल की जांच कर सकते हैं. मुझे यकीन है कि उन्हें पठानकोट और उड़ी हमले के सबूत मिल जाएंगे.’

और पढ़े -   गोरखपुर के बाद छत्तीसगढ़ में ऑक्सीजन की कमी ने ली 3 बच्चो की जान

लंदन में नवाज शरीफ द्वारा दिए गए बयान पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा, शरीफ ने यह कुतर्क जान-बूझकर किए गए. यह सरासर गलत हैं. ये न्यू यॉर्क और लंदन में तो काम नहीं ही आएंगे. ये इस्लामाबाद में भी काम नहीं आने वाले हैं. दरअसल न्यू यॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में शामिल होने के बाद लौटने के दौरान लंदन में रुके शरीफ ने कहा था कि उड़ी हमला कश्मीर में अत्याचारों का नतीजा हो सकता है.

और पढ़े -   राजदीप सरदेसाई ने किया ऐसा ट्वीट की लोग पूछने लगे, क्या तुम पत्रकार हो?

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र से इतर द्विपक्षीय और बहुपक्षीय बैठकों में भाग ले रहे अकबर ने कहा कि शक्तिशाली देशों ने समस्याओं से एकजुट होकर निपटने, गरीबी दूर करने और विकास पर ध्यान देने को लक्ष्य बनाने के भारत के उचित रुख पर ध्यान दिया है. अकबर ने कहा कि भारत का प्रमुख लक्ष्य है कि तरक्की का सबसे बड़ा लाभ उन लोगों तक पहुंचना चाहिए, जिन्हें इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है. उन्होंने कहा कि मानवाधिकार और विकास का सबसे बड़ा दुश्मन आतंकवाद है। इसे खत्म किया जाना चाहिए.

और पढ़े -   नई हज नीति की रिपोर्ट तैयार, इस महीने में कर दी जाएगी घोषणा: नकवी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE