dayashankar

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायवती के खिलाफ आपतिजनक भाषा का इस्तेमाल करने के कारण जेल में बंद भाजपा के  पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह को अदालत ने बड़ी राहत देते हुए जमानत दे दी हैं. अदालत ने 50-50 हजार के मुचलके पर दयाशंकर को जमानत दी है.

दयाशंकर की जमानत को लेकर बसपा ने अदालत के इस फैसले को हाईकोर्ट में चुनोती देने का फैसला किया हैं. बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने फैसले के बाद कहा कि वे इसको हाईकोर्ट में चुनौती देंगे. उन्होंने कहा कि अधीनस्थ अदालत द्वारा गया फैसला विधि सम्मत नहीं है.

गौरतलब है कि प्रदेश उपाध्यक्ष बनाए जाने के बाद 19 जुलाई को मऊ पहुंचे दयाशंकर सिंह ने बसपा सुप्रीमो मायावती पर टिकट बेचने का आरोप लगाते हुए उनकी तुलना एक वेश्या से कर दी थी.

इस मामलें को लेकर राज्य सभा में भी बवाल हुआ था. जिसके बाद बीजेपी ने दयाशंकर को पार्टी से भी निष्कासित कर दिया था.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें