दिल्ली पुलिस की वरिष्ठ अधिकारी को ट्विटर पर तब गाली-गलौज का सामना करना पड़ा जब उन्होंने राजधानी में हुए डेंटिस्ट की कथित हत्या में सांप्रदायिक पहलू होने से इंकार किया। गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर शुक्रवार से ही अफवाहों का बाज़ार गर्म था कि एक विशिष्ट समुदाय के लोगों ने बुधवार की देर रात पंकज नारंग की पीट-पीटकर हत्या कर दी।

डॉक्टर की मौत : सांप्रदायिक पहलू से इंकार करने वाली पुलिस अधिकारी को मिली गालियांमामले में किसी भी सांप्रदायिक पहलू से इंकार करते हुए पश्चिम इलाके की अतिरिक्त डीसीपी मोनिका भारद्वाज ने ट्वीट किया, ‘विकासपुरी के चिकित्सक की हत्या के लिए गिरफ्तार नौ लोगों में से चार किशोर हैं। कोई भी धार्मिक पहलू नहीं है, जैसा कुछ लोग अफवाह उड़ा रहे हैं। हम आपसे शांति कायम रखने की अपील करते हैं।’

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा ‘नौ आरोपियों में से पांच हिंदू हैं। जब झगड़ा हुआ था तब दो लोगों में से एक हिंदू था। मुस्लिम आरोपी उत्तर प्रदेश के हैं, न कि बांग्लादेश के।’

2009 बैच के आईपीएस अधिकारी के ट्वीट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कुछ ट्विटर उपयोगकर्ताओं ने उनके अकाउंट पर गाली-गलौज भी लिखी। दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने मामले का ज्ञान लिया है लेकिन आगे की कार्रवाई के बारे में खुलासा नहीं करेंगे। इस हादसे के बाद से ट्विटर और फेसबुक पर #DrPankajLynched और #JusticeForDrNarang ट्रेंड कर रहे हैं। (NDTV)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें