Screenshot_16

कहा जाता हैं दिल्ली दिलवालो की हैं लेकिन बीते दो दिन पहले हुए एक सड़क ह्यदसे के बाद ऐसा महसूस होता हैं कि जैसे दिल्ली में कोई भी दिलवाला नहीं हैं. दिल्ली में सड़क किनारे चल रहे व्यक्ति को ट्रक ने टक्कर मार दी जिसके बाद वहा से सैकड़ो वाहन गुज़र गए लेकिन किसी ने भी उसको अस्पताल ले जाना ज़रूरी नहीं समझा, और उसको मारने के लिए छोड़ दिया.

और पढ़े -   रोहिंग्या शरणार्थियों की आने की संभावना के चलते भारत ने म्यांमार के साथ की अपनी सीमा सील

उस सड़क पर लगे सीसी टीवी फुटेज पर देखा गया कि बुधवार को एक व्यक्ति सड़क किनारे से जा रहा था कि अचानक एक छोटे ट्रक ने उसको पीछे से टक्कर मर दी. यह हादसा सुबह करीब 5 बज कर 40 मिनट पर हुआ.

Screenshot_17

टक्कर मारने के बाद ट्रक चालक वाहन से उतरता तो ज़रूर हैं लेकिन उस घायल व्यक्ति को गटर के पास फेंक वहा से रफूचक्कर हो जाता हैं. इसके बाद एक रिक्शा वाला भी उस घायल व्यक्ति के पास रुकता हैं लेकिन उसकी मदद करने के लिए नहीं, रिक्शा चालक उस व्यक्ति का मोबाइल फ़ोन, पैसे और दूसरी चीज़े चुरा कर भाग जाता हैं, और उस घायल व्यक्ति को मारने के लिए छोड़ देता हैं.

और पढ़े -   बुलेट ट्रेन को लेकर आशुतोष राणा का तंज कहा, उधार की 'चुपड़ी' रोटी से अच्छी श्रम से अर्जित की गयी 'सुखी' रोटी

भारत का इतिहास ऐसी घटनाओ से भरा हुआ हैं, अक्सर लोग ऐसी घटनाओ में शामिल नहीं होना चाहते हैं क्योकि उनको भय रहता हैं कि खराब प्रशिक्षित पुलिस द्वारा उत्पीड़न झेलना पड़ेगा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE