हाल ही में केंद्रीय लेखा परीक्षक यानि कैग की और से भारतीय सुरक्षा बलों के पास गोला-बारूद की कमी को लेकर जारी हुई रिपोर्ट पर रक्षामंत्री अरुण जेटली ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि भारतीय सेना देश की संप्रभुता की रक्षा करने के लिए भारतीय सेनाएं उचित और पर्याप्त रूप से सुसज्जित हैं.

ध्यान रहे बीते सप्ताह कैग ने अपनी रिपोर्ट में जिक्र किया कि भारतीय सेना गोला-बारूद की कमी से जूझ रही है। खास तौर से टैंक व तोपों की कमी है और 152 प्रकार के हथियारों में से 121 युद्ध के आवश्यक न्यूनतम मानकों के अनुरूप नहीं हैं. गोला-बारूद की भारी कमी की वजह से केवल दस दिनों तक ही लड़ाई लड़ी जा सकती है.

जेटली ने कहा कि एक विशेष रिपोर्ट 2013 में दी गई थी और इसकी अनुवर्ती एक रिपोर्ट हाल में जमा की गई है, इसे लोक लेखा समिति के समक्ष रखे जाने की संभावना है. हम कैग की रिपोर्ट पर चर्चा नहीं करते, लेकिन हम रिपोर्ट को ध्यान में रखेंगे.

उन्होंने कहा कि रिपोर्ट का संदर्भ एक समय विशेष से है. इसके बाद से पर्याप्त रूप से महत्वपूर्ण प्रगति हुई है. प्रक्रिया सरल हो गई है, शक्तियों को विकेंद्रीकृत किया गया है और सशस्त्र बलों को यथोचित और पर्याप्त रूप से सुसज्जित किया गया है. हम सदन को इसका भरोसा देते हैं.

इस दौरान कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने सवाल उठाते हुए कहा कि प्रक्रिया आसान करने का फैसला तो कुछ ही दिनों पहले लिया गया। तीन वर्षों से इस संबंध में कुछ नहीं किया गया. उन्होंने कहा कि देश में तो पूर्णकालिक रक्षा मंत्री भी नहीं है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE