cow

देश भर में गौरक्षा के नाम पर कथित गौरक्षकों की काली करतूत एक के बाद एक सामने आ रही हैं. हाल ही में पीएम मोदी ने भी 80 फीसद गौरक्षकों को फर्जी बताया हैं. पीएम मोदी का ये दावा सही साबित भी हो रहा हैं.

पंजाब में पशु व्यापारियों को कथित गौरक्षक परेशान करते हैं और उनसे जबरदस्ती पैसे वसूलते हैं. पंजाब के चीमा गांव में रहने वाले अमरजीत सिंह पशु व्यापारी हैं . उन्होंने इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत के दौरान बताया कि उन्हें हिंदू शिव सेना के एक नेता से बातचीत करके उसे दो लाख रुपए देने पड़े ताकि उनके ट्रकों को बिना किसी रोकथाम से आने-जाने दिया जाए.

अमरजीत ने बताया कि अगर पैसे नहीं दिए जाते तो वे लोग भैंस-गाय को लेकर आ-जा रहे ट्रक को रोक लेते हैं और उन्हें परेशान करते हैं. फर्जी’ गौ रक्षकों ने हर चीज के रेट भी फिक्स कर रखे हैं. जैसे एक गाय को निकलने देने के 200 रुपए लिए जाते हैं और एक ट्रक, जिसमें 10 गाय होती हैं उसे जाने देने के लिए 2 हजार रुपए लिए जाते हैं.

इसके अलावा  6 महीने का एक प्लान भी तय किया गया है इसमें 3.80 लाख रुपए लेकर 6 महीने तक रोकटोक नहीं की जाती। इसमें ट्रक के नंबर उस गिरोह को दे दिए जाते हैं. जिन्हें उन्हें नहीं रोकना होता. अमरजीत ने बताया कि पहले गाय को बेचने के लिए सिर्फ पशुपालन विभाग से परमिशन लेनी होती थी लेकिन गौ सेवा कमीशन बनने के बाद तीन जगहों से इजाजत मांगनी पड़ती है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें