haji-ali-afp_650x400_71449810095

हाजी अली दरगाह में मुख्य मज़ार तक महिलाओं को बॉम्बे हाई कोर्ट द्वारा अनुमति दिए जाने के फैसले के खिलाफ दरगाह ट्रस्ट ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया हैं.

सोमवार को दरगाह ट्रस्ट द्वारा सुप्रीम कोर्ट में बॉम्बे हाई कोर्ट द्वारा महिलाओं को मुख्य मज़ार तक प्रवेश की अनुमति दिए जाने के फैसले को चुनौती दी.

बांबे हाई कोर्ट ने 26 अगस्त को अपने फैसले में दरगाह ट्रस्ट द्वारा हाजी अली दरगाह में मुख्य मज़ार तक महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ लगी पाबंदी को हटाते हुए स रोक को संविधान के अनुच्छेद 14,15 और 25 के तहत प्रदत्त अधिकारों के विरुद्ध बताया था.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिम मामले में मोदी पर बरसे मणिशंकर कहा, भारतीय मुस्लिमो को 'कुत्ता' समझने वाले से क्या रखे उम्मीद

अदालत ने कहा था कि महिलाओं को भी पुरुषों की तरह पूजा स्थल में प्रवेश करने और इबादत करने का बराबर अधिकार है. अदालत ने ये फैसला जाकिया सोमन और भारतीय मुस्लिम महिला आंदोलन की नूरजहां नियाज की जनहित याचिका पर दिया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE