भोपाल | भारत में बरसो से नीची जाति के लोगो के साथ भेदभाव होता आया है. हालाँकि सरकारे दावा करती आई है की अब नीची जाति और ऊँची जाति के बीच कोई मतभेद नही है लेकिन देश के किसी न किसी कोने में हर बार ऐसी घटनाये हो जाती है जो सरकार के इन दावों को गलत साबित कर देती है. एक ऐसी ही घटना मध्य प्रदेश के माना गाँव में घटित हुई है.

यहाँ दलितों के कुंए में सिर्फ इसलिए केरोसिन मिला दिया गया क्योकि एक दलित ने अपनी बेटी की शादी में दुल्हे का स्वागत बैंड बाजे के साथ किया. गाँव में रहने वाले दबंगो ने पहले ही दलित को चेतावनी दी थी की अगर उन्होंने बैंड बाजे के साथ दुल्हे का स्वागत किया तो इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे. लेकिन दलित ने उनकी एक न सुनी और इसका परिणाम पुरे दलित समाज को भुगतना पड़ा.

और पढ़े -   शरद यादव के आह्वान पर दिल्ली में एकजुट हुए विपक्षी दल

मिली जानकारी के अनुसार मध्य प्रदेश के माना गाँव में रहने वाले दलित चंदर मेघवाल की बेटी की अभी हाल ही में शादी हुई है. इस शादी में चंदर ने परम्पराओं से हटकर बैंड पार्टी को आमंत्रित किया. अभी तक इस गाँव में किसी भी दलित को बैंड पार्टी बुलाने की इजाजत नही थी. दलितों को केवल ढोल के साथ शादी करने की इजाजत मिली हुई थी. जैसे यह बात वहां रहने वाले ऊँची जाति के लोगो को पता चली तो उन्होंने चंदर को धमकाना शुरू कर दिया.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस पर चीनी सेना की लद्दाख में घुसपैठ, भारतीय सैनिकों पर भी किया पथराव

उन्होंने चंदर से ऐसा न करने के लिए कहा. लेकिन चंदर ने उनकी बात नही सुनी और पुलिस में जाकर दबंगों की शिकायत कर दी. हमले की धमकी को देखते हुए चंदर की बेटी की शादी पुलिस की सुरक्षा के साये में संपन्न हुई. यह बात दबंगों को नागवार गुजरी और उन्होंने बदला लेने के लिए उस कुंए में केरोसिन मिला दिया जिससे पूरा दलित समाज पानी भरता है. हालाँकि दलितों ने अपने पीने के पानी का इन्तजाम कही और से कर लिया है.

और पढ़े -   शिवराज में जंगलराज, बंधुआ मजदूरी से मना करने पर दलित महिला की काटी गयी नाक

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE