सिद्धार्थनगर | उत्तर प्रदेश में एक दलित दंपत्ति को इस्लाम धर्म अपनाने के बाद जान से मारने की धमकिया दी जा रही है. इसलिए पीड़ित ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्य मानवाधिकार आयोग,आईजी ,डीएम और अन्य को पत्र लिखकर सुरक्षा की गुहार लगायी है. पीड़ित की शिकायत के बाद जिले के डीएम ने मामले की जांच के आदेश दे दिए है. इसके अलावा दंपत्ति को सुरक्षा देने की भी बात कही गयी है.

मिली जानकारी के अनुसार सिद्धार्थनगर के अलिगढ़वा गाँव में रहने वाले रामधनी ने करीब दो महीने पहले अपनी पत्नी और बच्चो के साथ इस्लाम धर्म अपना लिया था. उसका कहना है की उसने इस्लाम धर्म से प्रभावित होकर बिना किसी दबाव के यह कदम उठाया है. इस्लाम धर्म अपनाने के बाद रामधनी ने अपना नाम बदलकर अब्दुल रहमान और अपनी पत्नी का नाम गुडिया से बदलकर आयशा रख दिया.

और पढ़े -   पहलु खान को श्रदांजलि देने को लेकर मुस्लिम समुदाय और हिन्दू संगठन आये आमने सामने, पुलिस की मुस्तैदी से टली बड़ी घटना

इसके अलावा यह दंपत्ति करीब एक महीने पहले अपने गाँव से पांच किलोमीटर दूर स्थिति पिपरावा में जाकर बस गए. यह गाँव मुस्लिम बहुल माना जाता है. अपने शिकायती पत्र में अब्दुल रहमान ने बताया की उसे एक महीने से कुछ असामाजिक तत्वों और संप्रदायिक पार्टियों की तरफ से जान से मारने की धमकी दी जा रही है. हम छिप रहे है. एक दिन यह सब हमारे घर तक आ सकता है. इसलिए हम सुरक्षा की मांग करते है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमो पर बोले मौलाना, हम 72 भी लाखो पर भारी, कोई माँ का जना नही जो मुसलमानों को बंगाल से निकाल दे

हालाँकि इस पत्र में अब्दुल रहमान ने किसी शख्स या पार्टी का नाम नही लिखा. इसलिए डीएम ने भी मामले की जाँच के आदेश दिए है. सदर पुलिस सर्किल ऑफिर दिलीप कुमार सिंह चूँकि रहमान ने किसी शख्स या संस्था का नाम नही लिया इसलिए जांच के बाद ही उन्हें सुरक्षा देने के मामले पर फैसला लिया जाएगा. बताते चले की रहमान ने 26 अगस्त को यह पत्र लिखा था लेकिन 20 दिन बीत जाने के बाद तक भी अभी तक इस मामले में कोई कार्यवाही नही की गयी है.

और पढ़े -   पत्रकारों के सवाल पर आग बबूला हुए आसाराम ने खुद को बताया 'गधा'

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE