karn

अल्पसंख्यक और दलित समुदायों पर अत्याचार की घटनाएँ प्रतिदिन सामने आ रही हैं. हाल ही में भगवा संगठनों द्वारा गुजरात के उना में कथित  गौरक्षा के नाम पर की गई दलितों की पिटाई का मामला शांत नहीं हुआ था कि अब कर्नाटक के चिकमंगलूर में एक दलित परिवार पर बीफ की अफवाह फैला कर बेहरमी से पीटा गया हैं.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कर्नाटक कम्‍यूनल हार्मोनी फोरम द्वारा इस मामले में लिखई गई एफआईआर में कहा गया कि 17 जुलाई को बजरंग दल के 40 से 50 लोगों ने इस परिवार पर हमला किया, जिसमें तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.  पुलिस ने इस मामले में कुछ सात लोगों को गिरफ्तार किया है. इनके खिलाफ एससी एसटी एक्‍ट के तहत मामला दर्ज कराया गया है.

और पढ़े -   बुलेट ट्रेन को लेकर आशुतोष राणा का तंज कहा, उधार की 'चुपड़ी' रोटी से अच्छी श्रम से अर्जित की गयी 'सुखी' रोटी

कर्नाटक कम्युनल हार्मोनी फोरम के जनरल सेक्रेटरी केएल अशोक ने कहा, ”एक ग्रुप के लोगों ने बलराज और उसकी फैमिली पर हॉकी-डंडों से हमला किया। इन लोगों का आरोप था कि बलराज के घर में बीफ रखा हुआ था. भीड़ ने एक घंटे तक फैमिली को बंधक बनाया और जमकर पिटाई की. इस दौरान 53 साल के बलराज के हाथ में फ्रैक्चर आया. वहीं, उसकी पत्नी और बच्चों को गंभीर चोट आई हैं.

और पढ़े -   गाय पर आस्था रखने वाले लोग हिंसा नहीं करते: मोहन भागवत

गौरतलब रहें कि पिछले साल इसी तरह’ दिल्‍ली के नजदीक दादरी में भी बीफ खाने की अफवाह फैला कर मोहम्‍मद अखलाक के परिवार पर भीड़ ने हमला किया था. इसमें अखलाक की मौत हो गई, जब उनका बेटा बुरी तरह घायल हो गया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE