दादरी कांड मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मरहूम अखलाक के परिवार के सदस्‍यों खिलाफ दर्ज गोहत्या मामले में  को गिरफ्तार करने पर रोक लगा दी है. हालांकि अखलाक के भाई जान मोहम्‍मद को राहत देने से इनकार कर दिया.

अखलाक के परिवार ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था.पिछले साल इस मामलें में परिवार के खिलाफ एक एफआईआर दर्ज की गई थी. परिवार का दावा है कि उन्हें केस में फंसाया गया. हाल ही अखलाक के बेटे ने भी यूपी के डीजीपी से मुलाकात कर मामले की फिर से जांच की मांग की थी.

और पढ़े -   मोदी सरकार रोहिंग्या मुसलमानों के नरसंहार का मुद्दा सयुंक्त राष्ट्र में उठाए: अजमेर दरगाह दीवान

सरकारी फॉरेंसिक जांच के बाद ऐसा सामने आया था कि अखलाख के घर के फ्रिज से जो मांस बरामद हुआ, वह बीफ था. लेकिन परिवार ने दावा किया कि बरामद मांस के प्रकार को लेकर आई फॉरेंसिक रिपोर्ट से छेड़छाड़ की गई है. परिवार ने यही बात हाई कोर्ट को भी बताई.

जस्ट‍िस रमेश सिन्हा और जस्टि‍स प्रभात चंद्र त्रिपाठी की बेंच ने जान मोहम्मद को राहत देने से इनकार कर दिया है.

और पढ़े -   दुर्गा प्रतिमा विसर्जन पर रोक लगाने के ममता सरकार के आदेश पर हाई कोर्ट सख्त, पुछा सत्ता है तो मनमाना आदेश पारित करेंगे

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE