चेन्नई | हाल ही के दिनों में गौसेवा, बीफ और गौरक्षा के नाम पर कई लोगो के साथ मारपीट करने की घटनाए सामने आई है. कई मामलो में तो कुछ लोगो को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा है. दो दिन पहले झारखण्ड में घर के सामने मृत गाय के मिलने की वजह से एक किसान को पहले बेरहमी से पीटा गया और बाद में उसके घर को आग लगा दी गयी. ताजा मामला तमिलनाडु से सामने आया है.

यहाँ बछड़े से भरे एक ट्रक को लेकर दो गुट आमने सामने आ गया. दोनों गुटों में जमकर मारपीट हुई जिसमे चार लोग घायल हो गया. मामला इतना बढ़ गया की भीड़ को तितर बितर करने के लिए पुलिस को लाठीचार्ज का सहारा लेना पड़ा. घटना तमिलनाडु के पलानी थाने क्षेत्र का है. यहाँ सेंदलंकारा रामानुज जीयनर नाम का शख्स कुम्भाभिषेकम में हिस्सा लेने पोलाची से मन्नारगुर्दी जा रहा था. रास्ते में उसे एक बछड़े से भरी मिनी वैन दिखाई दी.

द हिंदी की खबर के अनुसार पुधू-धर्मपुर रोड पर जीयनर को बछड़े से भरी वैन दिखाई दी. उसे गौतस्करी का शक हुआ तो उसने वैन को रोककर उसकी जांच पड़ताल की. वन में करीब पांच बछड़े और दो बैल भरे हुए थे. इसके बाद जीयनर वैन को पलानी थाने लेकर पहुंचा और वहां वैन के ड्राईवर के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी. जीयनर का कहना था की बिना गाइडलाइन के बछड़ो को ले जाया जा रहा था.

जीयनर ने बताया की बिना खाना पीना दिए बछड़ो को वैन में बंद रखा गया. इस दौरान वहां कुछ मुस्लिम संगठन के लोग इकठ्ठा हो गए और उन्होंने पुलिस कार्यवाही के खिलाफ प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. इसके बाद वहां हिन्दू संगठन के लोग भी पहुंचे और दोनों गुटों में मारपीट होनी शुरू हो गयी. यही नही लोगो ने जीयनर की गाडी पर भी पथराव् किया. बाद में पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर बितर किया. इस हमले में 4 लोग घायल हो गए जिनको सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE