अलीगढ | उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बने दो महीने ही हुए है लेकिन प्रदेश की कानून व्यवस्था बद से बदतर होती जा रही है. इन दो महीने के अन्दर प्रदेश की कई जगह पर जातीय और संप्रदायिक झगडे हो चुके है. इसी कड़ी में अलीगढ का नाम भी जुड़ गया है. अलीगढ में एक मस्जिद के गुंबद निर्माण को लेकर दो समुदाय में जबरदस्त संघर्ष हुआ. दोनों तरफ से खूब गोलीबारी और पत्थरबाजी हुई.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

मिली जानकारी के अनुसार अलीगढ के फूल चौराहा इलाके में स्थित मस्जिद में एक गुंबद का निर्माण कार्य चल रहा था. इसी दौरान वहां हिन्दू समुदाय के कुछ लोग पहुँच गए और उन्होंने गुंबद निर्माण पर आपत्ति जताई. उनका कहना था की गुंबद का निर्माण अवैध है. इसलिए इस निर्माण कार्य पर रोक लगनी चाहिए. इसको लेकर हिन्दू और मुस्लिम समुदाय के लोगो के बीच बहस शुरू हो गयी.

थोड़ी ही देर में वहां बीजेपी विधायक संजीव राजा भी अपने समर्थको के साथ पहुँच गए. उन्होंने वहां हिन्दू समुदाय के लोगो को भड़काते हुए कहा की यह गुंबद नही बल्कि पूरी मस्जिद ही अवैध है. संजीव के भड़काऊ भाषण के बाद दोनों समुदाय के बीच हिंसा भड़क गयी और दोनों ही तरफ़ गोलीबारी शुरू गयी. इस दौरान दोनों समुदाय के बीच पत्थरबाजी भी हुई. हालाँकि अभी तक हिंसा में किसी के घायल होने की कोई खबर नही है.

और पढ़े -   फर्जी बाबाओ की लिस्ट जारी करने वाले महंत मोहन दास हुए लापता, मोबाइल भी आ रहा स्विच ऑफ

सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों समुदाय के लोगो को समझाने का प्रयास किया. लेकिन जब वो नही माने तो पुलिस को मजबूरन आंसू गैस के गोले, रबर बुलेट और हवाई फायरिंग का सहारा लेना पड़ा. पुलिस के बल प्रयोग से भीड़ तितर बितर हो गयी और कुछ ही देर में स्थिति नियंत्रण में आ गयी. फ़िलहाल इलाके में भारी पुलिस बल तैनात है. लेकिन स्थिति अभी भी तनावपूर्ण बनी हुई है.

और पढ़े -   रोहिंग्या शरणार्थियों की आने की संभावना के चलते भारत ने म्यांमार के साथ की अपनी सीमा सील

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE