नई दिल्ली। डीडीसीए मामलों की जांच के लिए गठित जांच आयोग के समर्थन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एलजी और पीएमओ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए कहा कि डीडीसीए की जांच जारी रहेगी। अगर एलजी और पीएम को जांच आयोग से कोई दिक्कत है तो कोर्ट चले जाएं।

इससे पहले केंद्र सरकार ने डीडीसीए मामलों की जांच के लिए दिल्ली की आप सरकार द्वारा गठित जांच आयोग को असंवैधानिक और अवैध घोषित कर दिया है। जिसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्विटर पर एलजी और पीएमओ के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।

और पढ़े -   लैंगिक समानता के बिना कोई भी समाज सफल नहीं: हामिद अंसारी

केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि डीडीसीए की जांच के लिए दिल्ली सरकार ने भारतीय संविधान और कानून के तहत जांच आयोग बनाया है। केंद्र की राय दिल्ली सरकार के लिए वाध्यकारी नहीं है।

केजरीवाल ने दूसरा ट्वीट करते हुए लिखा कि जांच आयोग निरंतर काम करेगा। अगर एलजी, एमएचए और पीएमओ को कोई पीड़ित है तो वे कोर्ट का रुख कर सकते हैं। केवल एक कोर्ट ही है जो कमीशन को काम करने से रोक सकता है।

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों की सुप्रीम कोर्ट से अपील, तिब्बतियों और तमिलों की तरह हो बर्ताव

गौरतलब है कि दिल्ली के उपराज्यपाल के कार्यालय की तरफ से आज जारी किए गए एक पत्र में कहा गया है कि भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने कहा है कि दिल्ली सरकार के सतर्कता निदेशालय की तरफ से जारी अधिसूचना असंवैधानिक और गैर-कानूनी है इसलिए कानूनी रूप से इसका कोई प्रभाव नहीं होगा। साभार: ibnlive


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE