चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया टी एस ठाकुर ने कानून प्रवर्तन एवं उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों की नियुक्ति में देरी को लेकर सरकार की शनिवार को आलोचना की और कहा कि किसी प्रक्रिया के जरिये उसके प्रदर्शन की समीक्षा करने का समय आ गया है।

न्यायमूर्ति ठाकुर ने कहा कि ऐसे में जब लोग जेलों में बंद है एवं अन्य न्याय के लिए आवाज लगा रहे हैं, सरकार न्यायाधीशों की नियुक्ति को लेकर प्रस्तावों पर दो महीने से अधिक समय तक बैठी नहीं रह सकती। उन्होंने कहा कि यह वास्तव में लोगों के अधिकारों का संरक्षण है जिनके लिए कानून बनाये गए कि आप काम करते हैं।

उन्होंने कहा कि यह किसी निजी प्रशंसा के लिए नहीं कि अदालतें काम करती हैं, ये उन कानूनों को लागू करने के लिए है। मुझे नहीं पता लेकिन मुझे लगता है कि समय आ गया है कि आप सरकार के प्रदर्शन की किसी प्रक्रिया से समीक्षा करें। (News24)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें