गोरखपुर | रविवार को योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर में बीजेपी विधायक द्वारा एक महिला आईपीएस को डांटने का मामला तुल पकड़ता जा रहा है. विपक्षी दल सत्ताधारी बीजेपी पर प्रदेश की कानून व्यवस्था बिगाड़ने का आरोप लगा रहे है. उनका कहना है की बीजेपी कार्यकर्ता पुलिस अधिकारियो के साथ अभद्रता कर गुंडागर्दी कर रहे है. उधर पुरे मामले पर महिला आईपीएस चारू निगम ने चुप्पी तोड़ी है.

चारू निगम ने अपने फेसबुक पेज पर एक पोस्ट लिखकर बीजेपी विधायक को करार जवाब दिया है. उन्होंने लिखा है की मेरे आंसू को मेरी कमजोरी नही समझा जाए. इसके अलावा उन्होंने उस पल भावुक होने के बारे में भी विस्तार से बताया है. उन्होंने लिखा की मैं बीजेपी विधायक की डांट से नही बल्कि अपने सीनियर अधिकारी के समर्थन की वजह से भावुक हो गयी थी.

उन्होंने लिखा ,’ मेरी ट्रेनिंग ने मुझे कमजोर होना नही सिखाया है. मैं इस मैं इस बात की अपेक्षा नही कर रही थी, तभी मेरे सहयोगी एसपी सिटी गणेश साहा वहां पहुंचे और उन्होंने मेरी चोटों के बारे में बात की और इस निर्थक बहस को पूरी तरह से खारिज कर दिया. जब तक गणेश सर नही आये थे तब तक मैं वहां सबसे सीनियर अधिकारी थी. लेकिन जब एसपी सर आये और मेरे समर्थन में खड़े हो गए तो मैं भावुक हो गयी.’

चारू ने मीडिया को धन्यवाद देते हुए लिखा की गोरखपुर की मीडिया ने वो ही चीजे दिखाई है जो वहां हुई थी. उन्होंने मेरा साथ दिया और बिना किसी भेदभाव के पूरा सच दिखाया ,जिसके लिए मैं उनका शुक्रिया अदा करती हूँ. कृपया शांत रहें, मैं बिल्कुल ठीक हूं बस थोड़ी आहत हुई हूं. कोई चिंता की बात नही है, परेशान न हो. इसके अलावा उन्होंने शेरो शायरी के अंदाज में लिखा की मेरे आंसू को मेरी कमजोरी न समझे .कठोरता से नही कोमलता से अश्क झलक गए .


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE