पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम और उनके बेटे के घर पर सीबीआई के छापे पड़े है. मंगलवार सुबह उनके चेन्नई, दिल्ली, मुंबई और गुरुग्राम के करीब 14 ठिकानों पर छापेमारी की गई.

कहा जा रहा है आईएनएक्‍स मीडिया समूह को विदेशी निवेश पर क्‍लीयरेंस देने के मामले में यह छापेमारी की गई है. सोमवार को इस संबंध में FIR दर्ज की गई थी. छापें को लेकर  चिंदंबरम ने कहा है कि मोदी सरकार उनकी आवाज को दबाना चाहती है.

और पढ़े -   रोहित वेमुला नहीं थे दलित, आत्महत्या की वजह कॉलेज प्रशासन नहीं: जांच रिपोर्ट

उन्होंने कहा, ‘सरकार मुझे लिखने से रोकना चाहती है, जैसा कि वह अन्य विपक्ष के नेताओं, पत्रकारों, स्तंभकारों, एनजीओ, सिविल सोसायटी के साथ कर रही है. सरकार मुझे और मेरे बेटे और उसके दोस्तों को टारगेट करने के लिए सीबीआई और अन्य एजेंसियों का इस्तेमाल कर रही है.’

इस संबंध में कांग्रेस के प्रवक्‍ता टॉम वडक्‍कन ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ”यह लोगों का ध्‍यान आकर्षित करने के लिए और एक धारणा विकसित करने के लिए किया गया है.”

और पढ़े -   हिन्दू समिति की अजीब मांग , गरबे में मुस्लिमो का प्रवेश को रोकने के लिए आधार कार्ड को बनाया जाए अनिवार्य

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE