जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला के खिलाफ POK के सबंध में विवादित बयान को लेकर दायर याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सुनवाई की मंजूरी दे दी है. इस मामले में मंगलवार को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश की खंडपीठ के समक्ष सुनवाई होगी.

मौलाना अंसार रजा की ओर से अधिवक्ता नवल किशोर झा द्वारा दायर याचिका में अब्दुल्ला पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज कर एनआईए व आईबी से जांच कराने की मांग की गई. साथ ही पुलिस को गिरफ्तारी के लिए आदेश जारी करने और पासपोर्ट जब्त करने की मांग की गई है.

याचिकाकर्ता अंसार रजा का कहना है कि फारूक अब्दुल्ला को दो बार मुख्यमंत्री भारत की जनता ने बनाया है. उनकी राष्ट्रीयता भारतीय है. लेकिन वो गुणगान पाकिस्तान का कर रहे हैं. उन्होंने सवाल उठाया कि जब वो वोट हिंदुस्तान की जनता से मांगते हैं तो फिर पाकिस्तान के साथ इतना प्रेम क्यो ?

ध्यान रहे POK के सबंध में फारूक अब्दुल्ला ने कहा था कि पाकिस्तान ने चूड़ियां नहीं पहन रखीं. वो इतना कमजोर नहीं है कि अपने कब्जे वाले कश्मीर पर भारत का कब्जा होने देगा.

उनहोंने पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) को पाकिस्तान का हिस्सा करार देते हुए कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) पाकिस्तान का हिस्सा है और उसे पाकिस्तान से कोई छीन नहीं सकता.

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE