वशिंगटन से लौटते वक्त जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रियाद रुकेंगे तो भारत और सऊदी अरब के बीच परस्पर सुरक्षा समझौतों और व्यापार का एक नया युग शुरु होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो अप्रैल को सऊदी अरब पहुंचेंगे। उनकी मुलाकात क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान, और विदेश मंत्री आदिल-अल-जुबैर सहित कई कैबिनेट मिनिस्टर्स से होगी।

आतंकवाद के खिलाफ सऊदी अरब और भारत के बीच आशा से अधिक सहयोग रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपेक्षा है कि भारत में ऊर्जा और इनफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में सऊदी अरब का निवेश बढ़े। प्रधानमंत्री अपने विदेश प्रवास के दौरान पहले ब्रुसेल्स रुकेंगे, जहां वो भारोपीय शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे, उसके बाद वाशिंगटन में न्यूक्लियर देशों की बैठक में शामिल होंगे। ये बैठक अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने आहूत की है। इसके बाद भारत लौटते समय रियाद रुकेंगे। (News24)

और पढ़े -   निकाह के वक्त तीन तलाक का इस्तेमाल न करने की दुल्हों को सलाह देंगे काजी: AIMPLB

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE