जब हिंदुस्तान से मुसलमान पाकिस्तान जा रहे थे तब वो पाकिस्तान में अपने पूरे परिवार को छोड़कर हिंदुस्तान आ गए थे. उनके परिवार से जुड़े लोग आज पाकिस्तान सेना में ऊंचे पदों पर हैं. वो आजाद हिंद फौज में सुभाष चंद्र बोस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़े. जब ब्रिटिश सेना ने उन्हें पकड़कर लाल किले में डाल दिया और प्रसिद्ध लाल किला कोर्ट मार्शल ट्रॉयल हुआ तब देश के पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू ने उनके लिए वकालत की.

आजाद हिंदुस्तान में 4 बार सांसद चुने गए और कई महत्वपूर्ण मंत्रालयों के मंत्री रहे. प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान की मां को उन्होंने ही गोद लिया था.

और पढ़े -   स्कूल को 12वी तक करने की माँग कर रही छात्राओं के अनशन से झुकी हरियाणा सरकार, अपग्रेड करने का नोटिफिकेशन जारी

हम बात कर रहे हैं जनरल शाहनवाज खान की. जी हाँ जिसे देश आज भुला दिया है.

आज़ाद हिन्दुस्तान में लाल किले पर ब्रिटिश हुकूमत का झंडा उतारकर तिरंगा लहराने वाले जेनरल शाहनवाज़ ही थे.

आज भी लालकिले में रोज़ शाम छह बजे लाइट एंड साउंड का जो कार्यक्रम होता है, उसमें नेताजी के साथ जेनरल शाहनवाज़ की आवाज़ है.

और पढ़े -   अंतराष्ट्रीय न्यायालय में पूरी हुई कुलभूषण मामलें की सुनवाई, गुरुवार को आएगा फैसला

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE