बीजिंग | भारत और चीन के बीच डोकलाम सीमा विवाद को लेकर चल रहा तनाव अपने चरम पर पहुँच चूका है. सीमा पर दोनों देशो की सेना एक महीने से आमने सामने है. चीन लगातार भारत को युद्ध की धमकी दे रहा है, युद्धाभ्यास कर रहा है , लेकिन भारतीय सेना पीछे हटने को तैयार नही है. बुधवार को खबर आई थी की चीन ने तिब्बत में भारी गोला बारूद और सैनिक इकट्ठे करने शुरू कर दिए है.

इसी बीच चीनी मीडिया भी लगातार भारत पर हमले कर रहा है. चीन के सरकारी अख़बार ग्लोबल टाइम्स ने भारत में बढ़ते ‘हिन्दू राष्ट्रवाद’ को रेखांकित करते हुए लिखा है की यह दोनों देशो के बीच युद्ध के खतरे को बढ़ा रहा है. ‘भारत में बढ़ते हिन्दू राष्ट्रवाद’ शीर्षक से छपे लेख में यु निंग ने लिखा की भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने चुनाव के दौरान हिन्दू राष्ट्रवाद को इंधन के रूप में इस्तेमाल किया.

लेख में आगे लिखा गया की मोदी ने ही चुनावो के दौरान देश की राष्ट्रवादी भावानो को हवा दी. मुसलमानों पर हो रहे हमलो के लिए हिन्दू राष्ट्रवाद को जिम्मेदार ठहराते हुए निंग ने लिखा की अगर भारत में धार्मिक राष्ट्रवाद हद से ज्यादा बढ़ गए तो मोदी भी कुछ नही कर पायेंगे. और यह देखने को भी मिल रहा है क्योकि मोदी मुस्लिमो पर हो रहे हमलो को रोकने में नाकाम साबित हुए है.

निंग यही नही रुके उन्होंने आगे लिखा की सत्ता में आने के बाद मोदी ने हिन्दू राष्ट्रवाद का खूब लाभ उठाया है. यही हिन्दू राष्ट्रवाद भारत और चीन को युद्ध की और धकेल रहा है. जबकि भारत चीन के मुकाबले कमजोर है. लेकिन फिर भी दिल्ली में बैठे रणनीतिकार चीन निति को हिन्दू राष्ट्रवाद के हाथो में जाने से नही रोक पाए. हमने कई बार भारत से अपनी सेना वापिस बुलाने की अपील की है जबकि दिल्ली ने ऐसा करने की बजाय अपनी उत्तेजना जारी रखी है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE