मुंबई: बॉम्बे हाई कोर्ट ने आज एक महत्वपूर्ण आदेश में कहा की महाराष्ट्र में अब बीफ खाना या रखना कोई जुर्म नही होगा ना ही इस पर कोई सज़ा होगी, लेकिन राज्य में गौहत्या अभी भी गैरकानूनी है, अगर बीफ बाहर से मंगाकर खाया या रखा जाता है तो ये अपराध की क्षेणी में नही आएगा गौरतलब है कि महाराष्ट्र गोहत्या अभी भी अपराध घोषित है।

और पढ़े -   बिना हिजाब पहने पत्नी की तस्वीर सोशल मीडिया पर शेयर करने के बाद निशाने पर आये मोहम्मद शमी

गौरतलब है कि इससे पहले जनवरी में बॉम्‍बे हाईकोर्ट ने महाराष्ट्र में बीफ पर विस्तृत पाबंदी लगाने वाले कानून की संवैधानिक वैधता को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर अपना फैसला सुरक्षित रखा था। राष्ट्रपति ने पिछले साल फरवरी में महाराष्ट्र पशु संरक्षण (संशोधन) कानून 1976 को मंजूरी दी थी।

वर्ष 1976 के वास्तविक कानून में गौकशी पर पाबंदी लगाई गई थी जबकि संशोधित कानून में सांडों के वध के साथ बीफ रखने तथा खाने पर भी रोक लगा दी गई। वध के लिए पांच साल की सजा और दस हजार रुपये के जुर्माने का प्रावधान है जबकि बीफ रखने पर एक साल की सजा और दो हजार रुपये के जुर्माने का प्रावधान रखा गया था

और पढ़े -   स्वामी की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - अयोध्या मामलें की जल्द सुनवाई का लेंगे फैसला

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE