नई दिल्ली : बीजेपी सांसद और गायक मनोज तिवारी ने आमिर खान को कथित तौर पे देशद्रोही करार दे दिया है. संसद की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक में उन्होंने यह बयान दिया है. इससे पहले भी आमिर पर इस तरह के हमले हो चुके हैं. इस बयान को लेकर राजनीतिक पारा ऊपर जा सकता है.

हालांकि, सांसद मनोज तिवारी ने इन आरोपों का खंडन किया है. उन्होंने कहा है कि इस तरह का कोई बयान उन्होंने नहीं दिया है. जबकि, एबीपी न्यूज को उन्होंने बताया कि अतुल्य भारत के विज्ञापन से अामिर को हटाने का फैसला सही है. इसबीच इम मसले पर सियासत शुरू हो गई है.

और पढ़े -   स्वतंत्रता संग्राम में मुस्लिमो की थी अहम् भूमिका, हिन्दुत्वादी संगठनों ने कुछ नही किया-प्रशांत भूषण

टाइम्स ऑफ इंडिया के खबर के अनुसार ‘अतुल्य भारत’ के ब्रांड एंबेसडर के तौर पर आमिर को हटाने की चर्चा के बाद विवाद हो गया है. इसी मुद्दे को लेकर संसद की पर्यटन मंत्रालय की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक  थी. आमिर खान को लेकर ही चर्चा चल रही थी. इसी दौरान कथित तौर पर मनोज तिवारी ने कह दिया कि आमिर को हटाना अच्छा है वे देशद्रोही हैं.

और पढ़े -   मुख्य न्यायाधीश ने रामनाथ कोविंद को दिलाई देश के 14वें राष्ट्रपति पद की शपथ

टाइम्स ऑफ इंडिया के अनुसार तृणमूल कांग्रेस के सांसद केडी सिंह के नेतृत्व में बैठक चल रही थी. इसी दौरान मंत्रालय से  ‘अतुल्य भारत’ के ब्रांड एंबेसडर पद को लेकर चल रहे विवाद पर सफाई मांगी गई. कांग्रेस सांसद कुमारी शैलजा ने यह मुद्दा उठाया. साथ ही उन्होंने सरकार से इस पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग की.

इसबीच जब मनोज तिवारी का कथित बयान आया तो सीपीएम सांसद आर. बनर्जी और कांग्रेस सांसद केसी वेनूगोपाल ने इस पर त्वरित प्रतिक्रिया दी. दोनों ने कहा कि यह असंसदीय भाषा है और किसी के खिलाफ इस तरह की भाषा यहां प्रयोग नहीं की जानी चाहिए. इस प्रतिक्रिया की गंभीरता को भांपते हुए बताया जा रहा है कि मनोज तिवारी ने चुप्पी साध ली. साभार: Abp News

और पढ़े -   उमा भारती का गंगा सफाई पर यूटर्न कहा, गंगा 'टेम्स' नही जो हमेशा साफ़ रखी जा सके

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE