उन्होंने कहा कि अगर कोई व्‍यक्ति आतंकवादी, नक्सलवादी और देशद्रोही बनता है इसके लिए मां जिम्‍मेदार है।

इंदौर से भाजपा विधायक ऊषा ठाकुर एक बार फिर अपने बयान की वजह से सुर्खियों में हैं। विश्‍व महिला दिवस पर एक कार्यक्रम में भाजपा विधायक ने जेएनयू मामले पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि देशद्रोही नारे लगाने वाले जेएनयू के कन्हैया जैसे लोगों के लिए भी उनकी मां जिम्मेदार है। कन्हैया की मां ने उसे लोरी में देशभक्ति नहीं सिखाई।

उन्होंने कहा कि अगर कोई व्‍यक्ति आतंकवादी, नक्सलवादी और देशद्रोही बनता है इसके लिए मां जिम्‍मेदार है। देशभक्त की जगह देशद्रोही बनने के पीछे भाजपा विधायक ने परवरिश की कमी का हवाला दिया। उन्होंने कहा कि संस्कारों और ज्ञान के अभाव की वजह से लोग देशद्रोही बन जाते हैं। ऊषा ठाकुर पहले भी बयानों से विवादों में आ चुकी है। उन्‍होने कहा था कि फिल्म अभिनेता सलमान खान और असदउद्दीन औवेसी के साथ याकूब मेमन जैसा सलूक किया जाना चाहिए।

साथ ही ऊषा ठाकुर ने नवरात्र के गरबा के वक्त फरमान जारी किया था कि गरबा स्थलों पर मुस्लिमों को नहीं आने दिया जाएगा. एक सर्वे का हवाला देते हुए उन्होंने कहा था कि हर साल 4.5 लाख हिन्दू महिलाएं नवरात्र के दौरान मुसलमानों के झांसे में आकर इस्लाम कबूल लेती है। उन्‍होंने बकरीद पर बकरे की बलि देने का भी विरोध किया था। (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें