बंगलौर | कर्नाटक की वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद सियासी बयान बाजी भी जारी है. जहाँ कांग्रेस और अन्य गैर बीजेपी दल गौरी की हत्या के लिए आरएसएस को जिम्मेदार ठहरा रहे है वही बीजेपी पुरे मामले में अभी तक मौन है. बीजेपी के ज्यादातर नेताओं ने गौरी लंकेश की हत्या पर दुःख जाहिर करते हुए उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट की. लेकिन बीजेपी के एक विधायक ने सीधे सीधे विपक्ष के आरोपों की पुष्टि कर दी.

और पढ़े -   गौरक्षकों के डर से पहलू खान के ड्राइवर ने छोड़ा अपना मवेशी पहुंचाने का काम

कर्नाटक के एक बीजेपी विधायक ने कार्यकर्ताओ को संबोधित करते हुए कहा की गौरी लंकेश अगर आरएसएस के खिलाफ न लिखती तो वो आज जिन्दा होती. उनका यह विवादित बयान बीजेपी के गले की हड्डी बन सकता है. हालाँकि इस विधायक ने गौरी लंकेश को अपनी बहन बताया. उन्होंने कहा की वैसे गौरी मेरी बहन की तरह थी लेकिन आरएसएस के खिलाफ उनके लेख बर्दाश्त के बाहर थे.

कर्नाटक के श्रृंगेरी से बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री जीवराज ने चिकमंगलुरु में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उपरोक्त बाते कही. उन्होंने कहा की कांग्रेस के राज में कई आरएसएस कार्यकर्ताओ ने जान गंवाई. अगर गौरी लंकेश ने आरएसएस के खिलाफ नही लिखा होता तो वह जिन्दा होती. वो मेरी बहन जैसी थी , लेकिन आरएसएस के खिलाफ उन्होंने जैसा लिखा वो स्वीकार नही किया जा सकता.

और पढ़े -   देश में हिंदू आएं तो शरणार्थी, मुस्लिम आएं तो आतंकवादी: स्वामी अग्निवेश

बताते चले की जीवराज ने मंगलुरु में एक बाइक रैली आहूत की थी. इसलिए कर्नाटक के अलग अलग हिस्सों से कार्यकर्त्ता इस रैली में भाग लेने आये थे. लेकिन कर्णाटक पुलिस ने इसकी इजाजत नही दी. इसके बाद जीवराज ने कार्यकर्ताओ को चिकमंगलुरु में कार्यकर्ताओ को संबोधित किया. उधर गौरी की मौत हुए 72 घंटे बीत चुके है लेकिन पुलिस के हाथ अभी भी ख़ाली है. इस मामले में एसआईटी गठित करने के बाद पुलिस ने आम लोगो से भी उनकी मदद करने की अपील की है.

और पढ़े -   केंद्र सरकार भेज रही रोहिंग्या शरणार्थियों के लिए सहायता पैकेज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE