बुलंदशहर | एक हफ्ते पहले छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में CRFP के 25 जवान शहीद हो गए. इसके अलावा 8 जवान गंभीर रूप से घायल भी हुए जिसमे से 4 जवानों की हालत गंभीर है. घायल जवानों में से एक जवान शेर मोहम्मद बुलंदशहर के गाँव आसिफबाद चांदपुरा का रहने वाला है. फ़िलहाल शेर मोहम्मद रायपुर के अस्पताल में जिन्दगी और मौत की जंग लड़ रहा है.

उधर शेर मोहम्मद के पुरे गाँव में गम का माहौल है. वही उसकी माँ का भी रो रोकर बुरा हाल हो गया है. एक ऐसा गाँव जहाँ देश के जवान ने नक्सलियों से लोहा लेते हुए गोली खाई हो, जहाँ पूरा गाँव गमगीन स्थिति में हो, वहां किसी भी राजनितिक दल का नेता बैंड बाजे के साथ अपना स्वागत कराये तो सोचिये की उस माँ के ऊपर की गुजरेगी जिसका बेटा जिन्दगी और मौत की जंग लड़ रहा है.

और पढ़े -   पेट्रोल-डीजल के बेलगाम होते दाम पर केन्द्रीय मंत्री का विवादित बयान कहा, तेल खरीदने वाला नही मर रहा भूखा, सोच समझकर लिया फैसला

दरअसल सिकंदराबाद से नवनिर्वाचित बीजेपी विधायक विमला सोलंकी बैंड बाजे के साथ शेर मोहम्मद के गाँव पहुंची. यही नही उनके आने की ख़ुशी में उनके समर्थको ने पुरे गाँव में पटाखे भी छोड़े. इसके बाद जब विधायक साहिबा घायल जवान के घर पहुंची तो उसकी माँ और पड़ोसियों ने विधायक को खूब खरी खोटी सुनाई और गाँव से वापिस भेज दिया. हालाँकि विधायक ने अपनी सफाई में कहा है की वो बैंड बाजे के साथ घायल जवान के घर नही पहुंची थी.

और पढ़े -   बिना ब्रेक के दरभंगा एक्सप्रेस 350 किलोमीटर तक दौड़ी, हादसा होने से बाल-बाल बचा

विमला सोलंकी ने बताया की वो चुनाव जीतने के बाद पहली बार गाँव पहुंची थी. इस लिए गुलावठी ग्रामीण मंडल के मंत्री इमरान ने अपने यहाँ एक स्वागत समारोह आयोजित किया था. कार्यक्रम में जो भी पटाखे और बैंड बाजे का इस्तेमाल हुआ वो कार्यक्रम के आयोजको ने किया था. जब कार्यक्रम खत्म हुआ और थोड़ी भीड़ कम हुई तब मैं घायल जवान के घर पहुंची. मैं उनके घर बैंड बाजे के साथ नही गयी थी.

और पढ़े -   अमित शाह ने नरोदा गाम दंगे मामले में किया माया कोडनानी का बचाव

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE