जयपुर | हाल ही में भारतीय सेना की कश्मीर में की गयी कुछ कार्यवाहियों पर हमारे राजनेताओ ने सवाल उठाये है. इनमे पत्थरबाजो पर पैलेट गन का इस्तेमाल करने से लेकर सेना जीप के आगे एक पत्थरबाज को ढाल के रुपे में बाँधने की घटना शामिल है. यही नही कांग्रेस नेता संदीप दीक्षित ने तो सेना अध्यक्ष बिपिन रावत के खिलाफ भी अपशब्दों का इस्तेमाल किया था. हालाँकि लोगो का मानना है की राजनेताओ के इन बयानों से सेना का मनोबल गिरता है.

और पढ़े -   गोरखपुर हादसा : डॉ कफील अहमद को पद से हटाने के बाद योगी सरकार पर भडके अनुराग कश्यप

अब राजस्थान की बीजेपी सरकार के मंत्री ने इन राजनेताओ पर लगाम लगाने के लिए बेहद ही अजीबो गरीब सलाह दी है. उनका कहना है की सेना की आलोचना करने वाले नेताओं के हाथ काट देने चाहिए. यही नही उन्होंने ऐसे मामलो में त्वरित सुनवाई करने की भी मांग की. उनका कहना है की ऐसे मामलो में 5 मिनट के अन्दर सुनवाई पूरी होनी चाहिए.

राजस्थान सरकार में पर्यावरण मंत्री राजकुमार रीणवा ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए ये सुझाव दिए. उन्होंने कहा की हमारी सेना का जवान हर तापमान में , चाहे 50 डिग्री हो या 0 डिग्री, देश की रक्षा करता है. फिर भी कई ऐसे नेता है जो देश की रक्षा करने वालो पर टिपण्णी करते है. यह हमारा दुर्भाग्य है. इसलिए संविधान में ऐसे नेताओं के खिलाफ कार्यवाही करने का भी कानून बनना चाहिए.

और पढ़े -   भारत में रह रहे रोहिंग्या मुस्लिम बोले - हमें मार दो लेकिन म्यांमार मत भेजों

राजकुमार ने आगे कहा की मैं चाहता हूँ की संविधान में ऐसा कानून बने की सेना पर टिप्पणी करने वाले नेताओं के हाथ काट दिए जाये. यही नही इन लोगो पर बिना मुकादमा किये, 5 मिनट में इनका फैसला करना चाहिए. मालूम हो की संदीप दीक्षित के बाद समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता आजम खान ने भी सेना पर बेहद ही बेहूदा टिपण्णी की थी जिसके बाद उनकी काफी आलोचना भी हुई. बताते चले की राजकुमार रीणवा चुरू के रतनगढ़ विधानसभा से विधायक चुने गए थे.

और पढ़े -   मदरसों में राष्ट्रगान नही गाने की अपील पर मौलाना असजद रजा खान के खिलाफ कोर्ट सख्त , पुलिस से मांगी रिपोर्ट

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE