madani-620x400

जमीयत उलेमा-ए-हिंद के प्रमुख अरशद मदनी ने संघ परिवार और सपा पर हमला करते हुए कहा कि अगर बीजेपी सहित संघ परिवार और समाजवादी पार्टी ने मुस्लिमों को लेकर अपना नजरिया नहीं बदला तो देश की मजबूती के लिए तौकिर रजा खान और असदुद्दीन ओवैसी के साथ एक मंच पर साथ आ सकते हैं साथ ही जमीयत उलेमा-ए-हिंद  तौकिर रजा खान और ओवैसी के साथ चलने और मिलकर काम करने को तैयार है.

और पढ़े -   आरएसएस रोजेदारो को देगा इफ्तार पार्टी, मटन-चिकन की जगह दिया जायेगा एक गिलास दूध

मदनी ने कहा, ‘‘हमारी उनसे कोई सियासी लड़ाई नहीं है, कोई सत्ता की लड़ाई नहीं है. हम प्यार-मोहब्बत को बढ़ावा देना चाहते हैं हम बात करेंगे और आगे बढ़ेंगे। ऐसा होना तो बड़ी अच्छी बात है. उन्होंने आगे कहा कि सरकार और देश के मुस्लिम संगठनों के बीच संपर्क और बातचीत की पहल पहले सरकार को करनी चाहिए.

मदनी ने हिंदू-मुस्लिम एकता पर मदरसों की भूमिका को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि  भाई-चारा बढ़ाने में मदरसे अहम भूमिका निभा सकते हैं. उन्होंने कहा, मदरसों का नेटवर्क गांव-गांव तक फैला है. अब हम मदरसों के सुपुर्द एक और काम सौंपना चाहते हैं. यह काम भाई-चारे के पैगाम का है.

और पढ़े -   सेना जीप के आगे बांधे जाने वाले बयान पर अरुंधती राय ने परेश रावल को दिया जवाब

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE