bipin12

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने आजाद भारत के पहले थलसेना अध्यक्ष फील्ड मार्शल जनरल के.एम. करियप्पा को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से सम्मनित करने की मांग की है.

उन्होंने कहा, ‘अब वक्त आ गया है कि फील्ड मार्शल करियप्पा को भारत रत्न दिया जाए. अगर यह दूसरे लोग को मिल सकता है तो मेरी नजर में फील्ड मार्शल भी इसके हकदार हैं. उन्हें ये सम्मान न देने की कोई वजह नहीं है. उन्होंने कहा, हम प्राथमिकता के आधार पर जल्द ही इस मामले को देखेंगे.’

ध्यान रहे करिअप्पा 1947 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के हीरो थे, जो वेस्टर्न फ्रंट को लीड कर रहे थे. जनरल करियप्पा का जन्म 28 जनवरी, 1899 को हुआ था. उन्हें 1986 में फील्ड मार्शल रैंक दी गई थी. 4 साल बाद 1993 में बेंगलुरु के हॉस्पिटल में उनका निधन हो गया.

इसके अलावा दूसरे विश्व युद्ध के दौरान जापानियों के खिलाफ बर्मा के अभियान में अपनी भूमिका के लिए करियप्पा को प्रतिष्ठित ‘ऑर्डर ऑफ ब्रिटिश एम्पायर’ (ओबीई) से सम्मानित किया गया था.

करियप्पा को छोड़ अब तक सिर्फ फील्ड मार्शल मानकेशॉ को ही इस सम्मान से नवाजा गया है. यूं तो करियप्पा मानेकशॉ से काफी सीनियर थे लेकिन फील्ड मार्शल की पदवी उन्हें काफी बाद में मिली


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE