भगत सिंह को आतंकी बताने वाली किताब पर रोकदिल्ली यूनिवर्सिटी के इतिहास के पाठ्यक्रम में शामिल एक किताब, जिसमें भगत सिंह को ‘क्रांतिकारी आतंकी’ बताया गया हैं. सरकार ने इस किताब के हिंदी अनुवाद की बिक्री और वितरण को रोकने का फैसला किया है। ‘इंडियाज स्ट्रगल फॉर इंडिपेंडेंस’ नाम की यह किताब पिछले दो दशकों से भी ज्यादा समय से डीयू के पाठ्यक्रम का हिस्सा रही है।

इसके 20 वें अध्याय में भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, सूर्य सेन और अन्य को ‘क्रांतिकारी आतंकवादी’ करार दिया गया है। इस किताब में चटगांव आंदोलन और ब्रिटिश पुलिस अधिकारी जॉन सैंडर्स की हत्या को ‘आतंकवादी कृत्य’ (ऐक्ट ऑफ टेररेजम) कहा गया है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें