cow1

देश भर में भगवा संगठनों द्वारा कथित गौरक्षा के नाम पर मुस्लिम और दलित समुदाय पर अत्याचार रुकने का नाम नहीं ले रहा हैं. भगवा संगठनों के हौसले इतने बुलंद हो चुके हैं कि उन्हें कानून का कोई खौफ ही नहीं रहा हैं .

गुजरात के सूरत शहर के पंडेसरा में रविवार रात मवेशियों की खाल और हड्डीयां ले जा रहे टेम्पो चालक इलियास शेख को बीफ ले जाने के आरोप में बुरी तरह से पीटा गया. उदेपुर निवासी इलियास शेख ने सूरत म्यूनिसपल कार्पोरेशन के साथ हुए मृत मवेशियों की खाल और हड्डियां ढोने से संबंधित अपने करार किया हैं जिसके तहत वह खझोड़ स्थित गार्बेज डिस्पोजल प्लांट से अपनी टेम्पो में मृत मवेशियों की खाल और हड्डियां ले जा रहा था.

जब वे अपनी टेम्पो लेकर पंडेसरा के पीयूष पॉइंट इलाके से गुजर रहे थे तभी 10 के करीब युवाओं के एक दल ने खुद को गोरक्षक बताते हुए उनपर हमला कर दिया. गोरक्षकों ने टेम्पो की तलाशी ली और उसमें गाय की खाल और हड्डियां पाए जाने के बाद इलियास की पिटाई शुरू कर दी. गोरक्षकों के दल ने टेम्पो को भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया.

कुछ देर बाद मौका ए वारदात पर पहुंची पंडेसरा पुलिस घायल अवस्था में मिले लियास को फौरन अस्पताल में भर्ती कराया, जहां जांच के दौरान पता चला की उनके दोनों हाथों में फ्रैक्चर है. पुलिस ने इलियास के बयान पर गोरक्षकों के खिलाफ साम्प्रदायिक उन्माद फैलाने का मामला दर्ज किया.

डेसरा पुलिस इंस्पेक्टर एन एल देसाई ने अपने बयान में कहा, ‘हमने इस मामले में साम्प्रदायिक हमले का केस दर्ज किया है. हमें हमला करने वालों में शामिल दो लोगों विनोद तिवारी तथा रामधनी सिंह यादव के बारे में पता चला है और हम इस वारदात में शामिल अन्य लोगों की छानबीन कर रहे हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें