योग गुरु रामदेव के पतंजलि ट्रस्ट से बनाए एक टूथपेस्ट के विज्ञापन में देशभक्ति का नारा दिया गया है। ग्राहकों और दुकानदारों से अपील की गई है, ‘हमारे उत्पाद का प्रयोग करें जैसे देश के करोड़ों देशभक्त कर रहे हैं। भारत की समृद्धि में अपना योगदान दें।’ बरेली के एक वकील ने विज्ञापनों का मानक तय करने वाली संस्था (ASCI) में इससे संबधित शिकायत दर्ज कराई है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि विज्ञापन में निर्धारित मानकों का उल्लंघन किया गया है।

 (फाइल फोटो)

पतंजलि दंतकांति टूथपेस्ट के विज्ञापन अखबारों में प्रकाशित हुआ था। विज्ञापन में लिखा था, ‘करोड़ों देशभक्त की तरह पतंजलि के उत्पादों का प्रयोग ग्राहकों और विक्रेताओं को करना चाहिए। जो लोग जागरूक हैं उन्हें अपने पतंजलि के उत्पादों को अपने घर, दुकान और दिलों में जगह देनी चाहिए, ताकि वह देश के विकास और समृद्धि में योगदान दे सकें। हमारे उत्पादों के प्रयोग से महात्मा गांधी, भगत सिंह, राम प्रसाद जैसी देश की महान शख्सियतों का सपना पूरा होगा। इन महान लोगों का सपना था स्वदेशी उत्पादों का प्रयोग।’

उपभोक्ता मामलों के वकील मोहम्मद खालिद जीलानी ने ASCI में पतंजलि के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है। हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘विज्ञापन में दूसरे देशभक्तों की तरह पतंजलि के उत्पाद प्रयोग करने की बात कही गई है। यह विज्ञापन उन देशवासियों की निष्ठा पर एक प्रकार से सवाल उठाता है, जो पतंजलि का सामान प्रयोग नहीं करते।’

जीलानी ने कहा, ‘विज्ञापन से इस तरह का अर्थ निकल रहा है कि देशभक्ति साबित करने के लिए हमें पतंजलि के उत्पादों का प्रयोग करना ही होगा। इसके साथ ही इसमें देश के महान स्वतंत्रता सेनानियों का नाम भी प्रयोग किया गया है, जो पूरी तरह से अनैतिक है।’ ASCI ने जीलानी की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया है। शिकायत विभाग के प्रभारी एल डिसूजा ने ईमेल के जरिए यह सूचना दी। साथ ही उन्होंने इस संबंध में शिकायत की एक प्रति पतंजलि को भी भेजी गई है। (NBT)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें