एनडीटीवी से जुड़ी चर्चित पत्रकार बरखा दत्त ने JNU  मामले में खुद को मिल रही धमकियों को लेकर मैट्रोपोलियन मजिस्ट्रेट के सामने अपना बयान दर्ज कराते हुए शिकायत की है.

JNU मामले के बाद बहुत सारी चीजों में बदलाव देखा गया, विचारधाराएं तो आमने सामने आ ही गई, साथ ही देश में एक अहम रोल निभाने वाली मीडिया और राजनीतिक पार्टियां भी खुल कर एक दूसरे के खिलाफ हो गई. दोनों ही वर्ग की शिकायतें है कि उन पर विरोधी पक्ष की तरफ से लगातार शाब्दिक हमले हो रहे है.

और पढ़े -   टीवी पर आने वाले फर्जी मौलानाओं की आएगी शामत, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कसेगा शिकंजा

मीडिया लगातार इस बात को कहती रही कि वो सच का साथ दे रही है, लेकिन जो मीडिया दो खेमो में बंटा है, उन दोनों भागों पर ये आरोप लग रहे है कि ये किसी विशेष विचारधारा से प्रेरित होकर खबर को दिखा रहे है, JNU  मामले में जब दोनों तरफ के लोग एक दूसरे का समर्थन करने लगे तो ये भी तर्क आने लगे कि इतिहास में जब जब ऐसे मामले हुए, मीडिया ने अपनी अपनी सहूलियत से खबरें दिखाई.

बरखा दत्त भी इसी मीडिया बंटवारे का शिकार हुई, और उनका कहना है कि वो अब  ऐसे मुद्दों को लेकर सवाल जवाब के नाम पर गालियों का सामना कर रही हैं. एनडीटीवी की पत्रकार बरखा दत्त ने पुलिस में जाकर अपनी शिकायत दर्ज कराई और इसकी जानकारी ट्वीट पर शेयर की.

बरखा दत्त ने लिखा की पुलिस ने उनकी शिकायत पर ध्यान दिया, 4 मार्च को JNU  रिपोर्टिंग के दौरान जान से मारने की धमकी मिली थी. इसके बाद फिर बरखा दत्त ने लिखा कि JNU  मामले को लेकर मुझसे कई लोगों ने सवाल पूछा था.

कई लोग मुझसे सवाल पूछ रहे थे, तो मैं बता दूं कि आज मैट्रोपोलिटियन मजिस्ट्रेट के सामने गई थी, जान से मारने की धमकी को लेकर मैने अपना बयान आज दर्ज कराया था.  (indiatrendingnow)

और पढ़े -   गैंगरेप मामले में झूठ के जरिये मुजफ्फरनगर की फिजा बिगाड़ने की कोशिश, अफवाह फैलाने वाले शख्स को ट्विटर पर फोलो करते है मोदी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE