पंचकुला | 11 जुलाई को हिसार में एक इमाम को थप्पड़ मारने के आरोपी बजरंग दल के नेता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने आरोपी को पंचकुला से गिरफ्तार किया. यह गिरफ्तारी इतनी सफाई से हुई की पंचकुला पुलिस तक को इसकी भनक नही लगी. हैरान कर देने वाली बात यहा है की आरोपी करीब 4 दिन से पंचकुला में छिपा था लेकिन स्थानीय पुलिस को इसके बारे में कोई जानकारी नही थी.

रोहतक पुलिस के अनुसार बजरंग दल के स्थानीय संयोजक कपिल वत्स के नेतृत्व में कार्यकर्ताओ ने जामा मस्जिद के बाहर प्रदर्शन किया था. इसलिए पुलिस उसी दिन से कपिल वत्स की तलाश कर रही थी. शनिवार को सूत्रों से खबर मिली थी की कपिल अपने भाई के यहाँ पंचकुला के सेक्टर 5 में में छिपा हुआ है. इसके बाद उसकी गिरफ़्तारी की योजना बनायी गयी.

रोहतक पुलिस ने कपिल की गिरफ़्तारी के लिए इतनी गोपनीय योजना बनायी की पंचकुला पुलिस को भी इसकी भनक नही लगी. खुद पंचकूला सेक्टर पांच थाना प्रभारी सतीश कुमार ने माना की उन्हें रोहतक पुलिस की तरफ से इस बारे में कोई जानकारी नही दी गयी थी. गिरफ़्तारी के बाद कपिल को रोहतक के ड्यूटी मजिस्ट्रेट पुनीत लिम्बा के घर पर पेश किया गया. कपिल से पहले पुलिस एक अन्य आरोपी आशीष को भी गिरफ्तार कर चुकी है.

बताते चले की 11 जुलाई को हिसार में अमरनाथ यात्रियों पर हुए आतंकी हमले के विरोध में बजरंग दल कार्यकर्ताओं ने संयोजक कपिल वत्स की अगुवाई में प्रदर्शन करने का फैसला किया. इसलिए बजरंग दल के काफी कार्यकर्ता लाहौरिया चौक के नजदीक जामा मस्जिद पर जा पहुंचे. यहाँ उन्होंने नारेबाजी करते हुए भारत माता की जय के नारे लगाये. इसी दौरान एक कार्यकर्त्ता ने सहारनपुर के व्यापारी मोहम्मद हसन को भारत माता के जय नही बोलने पर थप्पड़ जड़ दिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE