जवाहर लाल नेहरू यूनविर्सिटी (जेएनयू) प्रशासन के छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार और उमर खालिद समेत छह स्टूडेंट्स के निष्कासन की सिफारिश कर दी गयी है। कन्हैया और उमर ख़ालिद को सिर्फ दो-दो सेमिस्टर के लिए निष्कासित किया गया है। जबकि अनिर्बान भट्टाचार्य, आशुतोष, अनंत और रामा नागा का एकेडेमिक सस्पेंशन करने की भी सिफारिश की गयी है।

इसका अभिप्रायः यह है कि कन्हैया और उमर के अलावा बाकी सभी आरोपियों को हॉस्टल भी छोड़ना होगा। क्यों कि जिन छात्रों का एकेडेमिक सस्पेंशन किया जाता है उनकी हॉस्टल सुविधा भी छिन जाती है। इन सभी छात्रों पर आरोप है कि विश्वविद्यालय प्रशासन के मना करने के बावजूद संसद पर आतंकी हमले में शामिल अफज़ल गुरु की स्मृति में कार्यक्रम आयोजित किया था।

सूत्रों के मुताबिक विश्विद्यालय प्रशासन ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के नेता और जेएनयू छात्र संघ के ज्वाइंट सेक्रेटरी सौरभ शर्मा पर भी कार्रवाई की सिफारिशस की है। यूनिवर्सिटी के मुताबिक दोषी 21 छात्रों में से कुछ पर फाइन लगाकर छोड़ दिया जाएगा। सजा पर अंतिम फैसला वाइस चांलसर लेंगे। (hindi.news24online.com)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें