बाबरी मस्जिद शहादत मामलें में पूर्व बीजेपी  सांसद राम विलास वेदांती समेत पांच लोगों को लखनऊ की स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने जमानत दे दी है. वेदांती के साथ चंपत राय, बीएल शर्मा, महंत नृत्य गोपाल और धर्मदास ने आज ही सरेंडर किया था.

इस मामले में पूर्व सांसद राम विलास वेदांती, विहिप नेता चम्पत राय, बैकुंठ लाल शर्मा, महंत नृत्य गोपाल दास महाराज, धर्मदास महाराज और शिवसेना नेता सतीश प्रधान को अदालत से नोटिस जारी हुआ था. हालांकि सतीश प्रधान ने सरेंडर नहीं किया.

और पढ़े -   गैंगरेप मामले में झूठ के जरिये मुजफ्फरनगर की फिजा बिगाड़ने की कोशिश, अफवाह फैलाने वाले शख्स को ट्विटर पर फोलो करते है मोदी

सतीश प्रधान के वकील मनीष त्रिपाठी ने कोर्ट को बताया कि अस्वस्थ्य होने के कारण सतीश प्रधान हाजिर नहीं हो सके, वह बुधवार को आत्मसमर्पण करेंगे. दरअसल सप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इन सभी के खिलाफ आपराधिक साजिश में ट्रायल शुरू हुआ है.

19 अप्रैल को सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में फैसला दिया था कि एक महीने के अन्दर मामले की सुनवाई शुरू करने के साथ दो साल के भीतर सुनवाई करने की भी समय-सीमा भी तय की है. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान ट्रायल जज के ट्रांसफर न करने का भी आदेश जारी किया था.

और पढ़े -   पीएम मोदी को जन्मदिवस पर किसानों से मिले 68 पैसे के चेक

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में 13 लोगों पर आपराधिक साजिश रचने का मुकदमा चलाने को आदेश दिया था. उनमें लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, मुरली मनोहर जोशी जैसे नेता भी शामिल हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE