हरिद्वार उत्तराखंड पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमले का पाकिस्‍तान से कनेक्‍शन आने के बाद योग गुरु बाबा रामदेव ने केंद्र सरकार की नीतियों की कड़ी आलोचना की है. बाबा रामदेव ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ईंट का जवाब पत्‍थर से देना चाहिए. अब वक्‍त आ गया है कि यदि वे हमारे 2 लोगों का सिर काटते हैं हमें 10 काटने चाहिए.’

उन्‍होंने शनिवार को पत्रकारों से कहा, ‘भारत एक ताकतवर मुल्‍क है. पाकिस्‍तान के खिलाफ हमें आक्रामक होने की जरूरत है. इसके बाद ही हम खुद की सुरक्षा कर पाएंगे. पाकिस्‍तान के सामने हम सबूत पेश करें, यह तो हमारी बुजदिली है. उनको ऐसा सबक सिखाना चाहिए कि वो सबूत मांगना भूल जाएं.’

पाकिस्‍तानी थे एयरबेस पर हमला करने वाले

दरअसल, इस हमले के पीछे पाकिस्‍तानी आतंकियों का साफ हाथ दिख रहा है. अब तक मिले सबूतों से यह साफ हो गया कि सभी छह आतंकी पाकिस्‍तानी ही थे. हमले से पहले और उस दौरान उन्‍होंने कई बार पाकिस्‍तान में अपने ‘उस्‍ताद’ से बात की थी. मोबाइल इंटरसेप्‍ट से दो मोबाइल नंबर का भी पता चल गया है, जिससे पाकिस्‍तानी हमलावर होने के सबूत मिले हैं. यहां तक कि हमले के दौरान एक आतंकी ने अपनी मां से बात की तो वह रो पड़ी थी.

‘पठानकोट हमले पर चुप्पी तोड़ें पीएम’

इधर, पूर्व रक्षामंत्री एके एंटनी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पठानकोट में वायुसेना के अड्डे पर हुए आतंकी हमले पर अपनी चुप्पी तोड़नी चाहिए. उन्‍होंने कहा कि हमसे गंभीर चूक हुई है और इसके कई संकेत मौजूद हैं, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई. इसलिए मोदी को देश को बताना चाहिए कि क्या हुआ था. यह हमला मोदी की पाकिस्तान यात्रा के बाद हुआ. देश जानना चाहता है कि यह हमला कैसे हुआ. यह एक गंभीर मामला है.

मोदी सरकार देश की रक्षा में नाकाम

कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा, ‘मोदी सरकार देश की हिफाजत में नाकाम रही है. अगर सरकार इसी तरह काम करती रही तो ‘अच्छे दिन’ के बजाए ऐसा लग रहा है कि हम अपना देश आतंकवादियों के हाथों खो बैठेंगे. मोदीजी कहा करते थे कि संप्रग सरकार के मंत्री पाकिस्तान को बिरयानी खिला रहे हैं. और अब? वह खुद नवाज शरीफ से मिलने गए. उन्होंने वहां क्या बात की? क्या कोई प्रेस बयान जारी हुआ? उन्होंने क्या बात की, इस पर हम अंधेरे में हैं.’

नवाज शरीफ ने आईबी जांच के दिए आदेश

प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने पठानकोट हमले के संबंध में भारत से सबूत मिलने के बाद मामले की इंटेलिजेंस ब्यूरो से जांच कराने के आदेश दिए हैं. शरीफ ने एक उच्चस्तरीय बैठक की अध्यक्षता करने के बाद इंटेलिजेंस ब्यूरो को जांच के आदेश दिए. इस बैठक में वित्तमंत्री इशाक डार, गृहमंत्री चौधरी निसार अली खान, विदेश मामलों के सलाहकार सरताज अजीज, विदेश मामलों पर विशेष सहायक तारिक फातमी, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) नासिर खान जांजुआ, विदेश सचिव एजाज अहमद चौधरी और इंटेलीजेंस ब्यूरो के प्रमुख आफताब सुल्तान ने हिस्सा लिया. साभार: न्यूज़ 18


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें