मेरठ | कश्मीर में बिगड़ते हालातो के बीच देश के अलग अलग शैक्षिक संस्थानों में पढ़ाई कर रहे कश्मीरी छात्रों को निशाना बनाया जाने लगा है. पिछले कुछ महीनो में देश के कई प्रतिष्ठित संस्थानों में कश्मीरी छात्रों के साथ मारपीट की घटना सामने आई है. सोमवार को मेरठ की चौधरी चरण सिंह यूनिवर्सिटी में भी एक कश्मीरी छात्र को निशाना बनाया गया. करीब 15 से 20 हमलावरों ने उसकी जमकर पिटाई की.

सोमवार को यूनिवर्सिटी परिसर में कश्मीर के रहने वाले अनीस पोसवाल के साथ कुछ लोगो ने मारपीट की. पुलिस में शिकायत दर्ज कर अनीस ने बताया की सभी हमलावरों ने अपनी मुंह पर कपडा बांधा हुआ था जिसकी वजह से किसी की पहचान नही हो पाई. उन्होंने पहले मुझसे मेरा नाम पुछा और यह कहकर मेरी पिटाई शुरू कर दी की तू कश्मीरी और मुस्लिम है.

अनीस के अनुसार उन्होंने उसे जान से मारने की धमकी दी और उसका मोबाइल लेकर वहां से फरार हो गए. वही अनीस पर हुए हमलो ने यहाँ के स्थानीय गुर्जरों को नाराज कर दिया है. अनीस के मुस्लिम गुर्जर होने की वजह से सभी गुर्जरों ने इसे अपने ऊपर हमला समझते हुए धमकी दी है की अगर आगे से ऐसा हुआ तो हम उसका मुंहतोड़ जवाब देंगे. इसलिए हमलावर हमला करने से पहले सौ बार सोचे.

इसी मामले को लेकर समाजवादी पार्टी के पूर्व छात्र सभा प्रदेश अध्यक्ष अतुल प्रधान ने अनीस से मुलाकात की. इसके बाद अतुल यूनिवर्सिटी के कुलपति से भी मिले. मुलाकात के दौरान अतुल ने हमलावरों को निलंबित करने की मांग की. इस दौरान उन्होंने कहा की यह हमला पुरे गुर्जर समाज पर हमला है जिसे हम बर्दास्त नही करेंगे. उधर मुस्लिम समाज इस मामले पर चुप्पी साधे हुए है.

उधर उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष अमित जानी ने इस हमले का समर्थन करते हुए उन सभी लोगो की तारीफ की जो इस घटना में शामिल थे. बताते चले की अमित जानी पहले भी कश्मीरी छात्रों को मेरठ छोड़ने की धमकी दे चुके है. इस मामले में उसने पुरे मेरठ में पोस्टर भी लगवाए थे. यही नही उसने सभी मेरठ के दुकानदारो से कश्मीरी छात्रों को रोजमर्रा का समान नही बेचने का आहवान किया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE