bl10_p10_offbeat_690565f

नई दिल्ली | मोदी सरकार के नोटबंदी के बाद, गुरुवार से सभी बैंकों ने काम करना शुरू कर दिया. गुरुवार सुबह से ही , अपने नोट बदलावाने के लिए , सभी बैंकों के सामने लम्बी लम्बी कतारे लगनी शुरू हो गयी. शुक्रवार को उम्मीद थी की बैंकों के सामने लगी कतारे थोड़ी छोटी हो जाएँगी क्योकि आज से सभी एटीएम चलने शुरू हो जायेंगे, लेकिन यह उम्मीद भी गलत साबित हुई.

देश के ज्यादातर हिस्सों से आई खबरों के अनुसार , आज बैंक में कल के मुकाबले ज्यादा लम्बी कतारे है. इसके अलावा एटीएम से पैसा निकालने के लिए भी लोग काफी देर से लाइन में लगे हुए है. लेकिन देश के ज्यादातर एटीएम या तो बंद है , या उनमे कैश नही है. कुछ एटीएम से अभी भी पुराने नोट नही हटाये गए है. इसके अलावा लोगो की दिक्कतों को देखते हुए , बैंक देर रात तक खुल रहे है.

आईसीआईसीआई बैंक की निदेशक चंदा कोचर ने बताया की बैंकों के सामने लम्बी लम्बी लाइन लगी हुई है. हमारे बैंक में सामान्य दिनों के मुकाबले तीन गुना ज्यादा लोग आ रहे है. इसके अलावा रोजाना होने वाले ट्रांजेक्शन से पांच गुना ट्रांजेक्शन ज्यादा हो रहा है. चंदा कोचर के अनुसार आईसीआईसीआई बैंक की सभी शाखा रात 8 बजे तक खुल रही है.

देश में करीब 2 लाख एटीएम है जिनमे से केवल एक लाख ही रनिंग मोड में है क्योकि ज्यादातर एटीएम में या तो कैश नही है या उनसे अभी पुराने नोट नही निकाले गए है. एसबीआई निदेशक अरुंदती भट्टाचार्य ने बताया की सभी एटीएम को 2000 की लिमिट तक तैयार करने के लिए अभी कम से कम दस दिन तक का समय लगेगा.

इसके अलावा सबसे बड़ी परेशानी , एटीएम को दोबारा भरने में भी आएगी. खासकर दूर दराज के इलाको और नार्थ ईस्ट के एरिया में काफी परेशानी आने वाली है. यहाँ एटीएम में दोबारा कैश पहुँचाना काफी मुश्किलों भरा हो सकता है. वैसे एटीएम में रोजाना 150 के करीब ट्रांजेक्शन होता है, लेकिन इस समय यह 2000 के करीब भी पहुँच सकते है. ऐसे में एटीएम कैसे ऑपरेट करेंगे , यह बहुत बड़ा सवाल है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें