जोधपुर | नाबालिग के यौन उत्पीडन के मामले में जेल में बंद आसाराम ने पत्रकार के एक सवाल के जवाब में खुद को गधा बता दिया. उनको पत्रकार की बात इतनी बुरी लगी की उन्होंने जवाब में कहा की मैं गधो की श्रेणी में आता हूँ. करीब चार साल से जेल में बंद गुरुवार को सुनवाई के लिए जोधपुर कोर्ट पहुंचे थे. वही पर एक पत्रकार ने उनसे सवाल अखाडा परिषद द्वारा निकाली गयी फर्जी बाबाओ की लिस्ट के बारे में पूछ लिया.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों की सुप्रीम कोर्ट से अपील, तिब्बतियों और तमिलों की तरह हो बर्ताव

पत्रकार ने आसाराम से सवाल किया की अखाडा परिषद ने कहा है की आसाराम न तो संत है और न ही कथावाचक. तो आप किस श्रेणी के बाबा है? पत्रकार का सवाल सुनकर आसाराम भड़क गए और उन्होंने खुद की तुलना गधे के साथ कर दी. उन्होंने कहा की वह ‘गधे’ की श्रेणी में आते है. उस दौरान वहां कई मीडिया हाउसेस के पत्रकार भी मौजूद थे. जैसे ही आसाराम सुनवाई के लिए कोर्ट पहुंचे सभी पत्रकारों ने उन्हें घेर लिया.

और पढ़े -   संयुक्त राष्ट्र में बोला भारत - ओसामा को शरण देने वाला पाक बन चुका ‘टेररिस्तान’

बताते चले की गुरमीत राम रहीम के रेप मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद पुरे देश में फर्जी बाबाओ को लेकर बहस शुरू हो गयी है. राम रहीम से पहले भी कई ऐसे बाबा सामने आये है जो जनता की भावानो के साथ खिलवाड़ कर उनका शोषण कर रहे थे. इनमे आसाराम का नाम भी शामिल था. जिन पर दो नाबालिग लडकियों का यौन शोषण करने का आरोप लगा था. इसके अलावा सूरत की दो महिलाओ ने भी आसाराम पर रेप करने का आरोप लगाया था.

और पढ़े -   फर्जी बाबाओ की लिस्ट जारी करने वाले महंत मोहन दास हुए लापता, मोबाइल भी आ रहा स्विच ऑफ

आसाराम के जेल जाने के बाद उनके लड़के नारायण साईं को भी पुलिस ने यौन शोषण के मामले में गिरफ्तार किया था. इस दौरान आसाराम ने कई बार जमानत के लिए कोर्ट में याचिका दाखिल की लेकिन हर बार अदालत ने जमानत याचिका ख़ारिज कर दी. इसी बीब 10 सितम्बर को अखाडा परिषद ने 14 फर्जी बाबाओ की एक लिस्ट जारी की जिसमे आसाराम , राम रहीम, राधे माँ, नारायण साईं, ओम बाबा सहित 14 बाबाओ के नाम शामिल थे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE