मुंबई यूनिवर्सिटी में मंगलवार को छात्रों से बात से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने यह टिप्‍पणी की।

चीफ इकॉनॉमिक एडवाइजर अरविंद सुब्रमण्‍यम ने बीफ बैन के मुद्दे पर बोलने से इनकार करते हुए कहा कि वे नौकरी नहीं खोना चाहते। मुंबई यूनिवर्सिटी में मंगलवार को छात्रों से बात से बातचीत के दौरान एक सवाल के जवाब में उन्‍होंने यह टिप्‍पणी की। उन्‍होंने कहा,’आप जानते हैं कि यह मैंने इस सवाल का जवाब दिया तो मेरी नौकरी चली जाएगी। लेकिन सवाल पूछने के लिए धन्‍यवाद।’

और पढ़े -   नफरत को नफरत से नहीं मिटाया जा सकता, मोहब्बत की हवा चलानी होगी - किछौछवी

अरविंद सुब्रमण्‍यम के जवाब पर छात्रों ने तालियां बजाई। उनसे पूछा गया था कि क्‍या बीफ बैन से किसानों की कमाई और ग्रामीण अर्थव्‍यवस्‍था पर विपरीत असर पड़ेगा। पिछले सप्‍ताह बेंगलुरु में लेक्‍चर में सुब्रमण्‍यम ने कहा था कि एक देश सामाजिक भिन्‍नताओं का किस तरह से सामना करता है, इस बात से आर्थिक विकास पर काफी फर्क पड़ता है।

और पढ़े -   पुलिस की समझदारी से टल गया एक और दंगा

बता दें कि महाराष्‍ट्र में बीफ पर बैन है। पिछले साल इस मामले पर काफी बवाल मचा था। इसी विवाद के दरमियान उत्‍तर प्रदेश के दादरी में बीफ खाने के आरोप में भीड़ ने मोहम्‍मद अखलाक नाम के मुस्लिम शख्‍स की हत्‍या कर दी थी। (Jansatta)


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE