भड़काऊ भाषण देने के मामले में हाजिर नहीं होने पर हरियाणा की एक अदालत ने रामदेव के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है. ये वारंट रोहतक की अदालत ने जारी किया है.

अदालत ने रोहतक के एसपी को निर्देश दिया है कि रामदेव को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जाए. कोर्ट ने कहा कि वे कई बार निर्देश के बाद भी अदालत में पेश नहीं हुए हैं. कोर्ट ने ये आदेश कांग्रेस के पूर्व मंत्री सुभाष बत्रा की याचिका पर दिया है.

और पढ़े -   टीवी पर आने वाले फर्जी मौलानाओं की आएगी शामत, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड कसेगा शिकंजा

दरअसल रोहतक में सद्भावना सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे बाबा रामदेव ने भड़काऊ भाषण दिया था. म्मेलन मे अपने भाषण में बाबा रामदेव ने कहा था कि यदि उनके हाथ कानून से बंधे नहीं होते तो भारत माता की जय बोलने वाले लोगों के सिर कलम कर देते.

रामदेव ने ये बयान हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी पर पलटवार के रूप में दिया था. दरअसल ओवैसी ने कहा था कि वह ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलेंगे. अगर उनकी गर्दन पर कोई चाकू रख दे, तब भी नहीं.

और पढ़े -   गुजरात, हिमाचल विधानसभा चुनावों के लिए VVPAT का प्रयोग हुआ अनिवार्य

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE