अपनी मांगों के पूरी न होने से नाराज आंदोलन को मजबूर हुए तमिलनाडु के किसानों ने एक बार फिर से जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करना शुरू किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास के बाहर प्रदर्शन करने के बाद किसानों ने गुरुवार को हाथों में जूते-चप्पल उठाकर नारेबाजी कर, जूते-चप्पलों से अपने सिरों को पीटकर प्रदर्शन किया था. लेकिन आज किसानों ने दिल दहला देने वाला प्रदर्शन किया.

और पढ़े -   मालेगांव ब्लास्ट: कर्नल पुरोहित के बाद अब दो और आरोपियों को मिली जमानत

किसानों ने शुक्रवार को नरमुंडों की माला और कंकाल को बीच सड़क पर बिछा दिया. किसानों का कहना है कि ये कंकाल उन साथी किसानों के है जो कर्ज की वजह से आत्महत्या कर चुके है.

गौरतलब है कि राज्य के किसान पहले ही करीब 1 महीना दिल्ली स्थित जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर चुके हैं. हालांकि वे केंद्रीय कृषि मंत्री के आश्वान के बाद अपना आंदोलन स्थगित कर तमिलनाडु लोट गए थे.

और पढ़े -   ऑपरेशन 'इंसानियत': भारत ने रोहिंग्याओं के लिए बांग्लादेश भेजी 700 टन राहत सामग्री की दूसरी खेप

किसानों का आरोप है कि आत्महत्या के बढ़ते मामलों के बाद भी राज्य सरकार उनकी मांगे नहीं सुन रही है और ना ही केंद्र सर्कार राहत पैकेज दे रही है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE