mad1

उत्तर प्रदेश के बरेली शहर के एक मदरसे ने आतंकवाद के विरुद्ध कोर्स शुरू किया है. दो साल का ये कोर्स बरेली के मदरसे सुन्नियत जामिया रिज़विया मंज़र-ए-इस्लाम नामक मदरसे में शुरू किया गया हैं.

हिंदुस्तान टाइम्स की ख़बर के मुताबिक़ मदरसे में उलेमा छात्रों को यह समझाएंगे कि किस तरह कुछ लोग अपनी नापाक करतूतों को धर्म का चोला पहनाने के लिए इस्लाम का सहारा ले रहे हैं.

और पढ़े -   रविश कुमार ने मोदी से पुछा, क्या मुझे गाली देने के अभियान में इंटेलिजेंस के लोग भी लगाए गए

साथ ही यहां आतंकी संगठनों की पृष्ठभूमि के बारे में भी बताया जाएगा. इसके अलावा यह भी बताया जाएगा कि किस तरह भारत में सक्रिय कुछ संगठन धर्म के नाम पर निर्दोष लोगों को गुमराह  कर रहे हैं.

मदरसा चलाने वाली दरगाह-आला-ए हजरत संस्था के प्रवक्ता ने बताया, ‘दुनियाभर में आतंकी अपनी अमानवीय हरकतों को सही ठहराने के लिए धार्मिक ग्रंथों का सहारा ले रहे हैं. यह कोर्स उन पर पलटवार है. इसलिए हमने इस कोर्स का नाम एंटी टेररिज्म कोर्स रखा है.’

और पढ़े -   मोदी सरकार ने किया स्पष्ट - अब नहीं मिलेगा पुराने नोटों को बदलने के लिए फिर से मौका

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE