जम्मू | पिछले एक साल में घाटी में बढती पत्थरबाजी और आतंकवादी घटनाओ के बीच राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ ने अगली वार्षिक समीक्षा बैठक को जम्मू में आयोजित करने का फैसला किया है. संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया की इस बैठक का आयोजन जुलाई के मध्य में किया जायेगा. आरएसएस 91 साल में पहली बार जम्मू में अपनी वार्षिक बैठक करने जा रहा है.

मनमोहन वैद्य ने बैठक के बारे में जानकारी देते हुए कहा की संघ की वार्षिक बैठक जम्मू में आयोजित होगी. तीन दिविसीय इस बैठक का आयोजन 18 जुलाई से 20 जुलाई के बीच किया जायेगा. संघ के सूत्रों के अनुसार इस बैठक में आरएसएस प्रमुख मोहन भगवत, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और विश्व हिन्दू परिषद् के कुछ नेता भाग लेंगे. उम्मीद है की इस बैठक में कश्मीर से सम्बंधित मुद्दों पर चर्चा होगी.

मनमोहन वैद्य ने बताया की जम्मू में पहले हमारा छोटा सा कार्यलय था. लेकिन पिछले कुछ सालो में इसका काफी विस्तार हुआ है. खुद जम्मू कार्यलय के लोगो ने वार्षिक बैठक आयोजित करने की इच्छा जताई थी जिसको मान लिया गया. संघ पहली बार जम्मू कश्मीर में कोई बैठक आयोजित कर रहा है. इस बैठक में गुजरे साल की घटनाओं पर गहन मंथन होगा और आने वाले समय में नयी कार्य योजना के बारे में भी चर्चा होगी.

वैद्य ने बताया की इस बैठक में कोई बड़ा फैसला नही लिया जायेगा. दरअसल संघ घाटी में बैठक को आयोजित कर अलगावादियों को कड़ा सन्देश देने की कोशिश करेगा. संघ अलगावादियों को यह दिखाना चाहता है की वो कश्मीर को देश का अभिन्न अंग मानते है और हम इसकी एकता और अखंडता के लिए प्रतिबद्ध है. इसके अलावा बैठक में सैनिको पर हो रहे पथराव पर भी चर्चा होने की सम्भावना है. फ़िलहाल बैठक की जगह तय नही की गयी है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE