जानी ने दावा किया है कि जेएनयू कैंपस में उन्होंने हथियार पहुंचा दिए हैं और उनकी पार्टी के 10 कार्यकर्ता कन्हैया कुमार और उमर खालिद को मारने के लिए सही वक्त का इतंजार कर रहे है।

उत्तर प्रदेश नवनिर्माण सेना के नेता अमित जानी जो कुछ दिनों पहले जेएनयू छात्र नेता कन्हैया कुमार को 31 मार्च से पहले जेएनयू कैंपस खाली नहीं करने पर गोली मारने की धमकी दे चुके हैं। उन्होंने दावा किया है कि जेएनयू कैंपस में उन्होंने हथियार पहुंचा दिए हैं और उनकी पार्टी के 10 कार्यकर्ता कन्हैया कुमार और उमर खालिद को मारने के लिए सही वक्त का इतंजार कर रहे है। उन्होंने कहा कि नवरात्रों के दौरान उनके कार्यकर्ता दोनों छात्र नेता को शिकार बना सकते हैं।

पिछले हफ्ते जानी ने फेसबुक पर एक वीडियो अपलोड किया था जिसमें उन्होंने कन्हैया और उमर को धमकी दी थी कि 31 मार्च से पहले दिल्ली छोड़ने के लिए कहा था और ऐसा नहीं करने पर गोली मारने की धमकी दी थी। उन्होंने कहा कि अब उनकी दी हुई मोहलत खत्म हो गई है। जानी की इस पोस्ट को 2000 से ज्यादा लाइक मिले थे। कन्हैया द्वावा सेना को लेकर दिए गए विवादास्पद बयान के बाद से ही जानी उनसे खासे नाराज चल रहे हैं।

जानी ने कहा कि, ” मोहलत खत्म होने पर गुरुवार को मेरे पार्टी कार्यकर्ताओं ने मुझसे पूछा हमें अब क्या करना है। मैंने क्हा कि हम वो ही करेंगे जो हमने कहा था। मेरे लड़के हास्टल में हथियारों के साथ इंतजार कर रहे हैं।” जानी इससे पहले भी सुर्खयों में रहे हैं। 2012 में जानी ने बसपा सुप्रिमों मायावती की मूर्ति का सर काट दिया था। इससे पहले 2009 में जानी ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की सभा में हंगामा किया था साथ ही जानी शिवसेना के कार्यालय पर भी हल्ला बोल चुके हैं। (Jansatta)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें