हुरियत कांफ्रैंस (जी) चेयरमैन सैयद अली शाह गिलानी ने कहा कि अमरनाथ यात्रियों को कश्मीरियों के लिए सम्मानित मेहमान करार देते हुए कहा कि अमरनाथ यात्रा पर आतंकी हमले का दुष्प्रचार किया जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘अमरनाथ यात्रियों को अलगाववादियों से कोई खतरा नहीं है.’

गिलानी ने आगे कहा, ‘कश्मीरी किसी भी धर्म या उसे मानने वालों के खिलाफ नहीं हैं बल्कि वे अपने बुनियादी अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि कश्मीरी किसी भी धर्म या उसे मानने वाले लोगों के खिलाफ नहीं हैं. अमरनाथ यात्रा पर आतंकी खतरे की बात फैलाकर आजादी के आंदोलन को बदनाम करने की सजिश है.

गिलानी ने कहा कि कश्मीर के लोग अमरनाथ यात्रियों के प्रति दोस्ताना और उदार रहे हैं. उन्होंने कहा, यात्रा दशकों से चली आ रही है और यहां के लोग श्रद्धालुओं के साथ हमेशा से सेवा भाव से पेश आए हैं. इस साल भी आने वाले श्रद्धालुओं का मेहमानों की तरह स्वागत किया जाएगा.

उन्होंने कहा, घाटी में 2008, 2010 और 2016 के विपरीत परिस्थितियों का के बावजूद लोगों ने तमाम पाबंदियों को दरकिनार कर अमरनाथ यात्रियों का स्वागत किया था और उन्हें जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई थीं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE